विज्ञापन

२ महीने तक प्रैक्टिस की तब आया ऐसा बैलेंस, सिर पर मटकी और जलता दिया रख किया फोक डांस

Dainik Bhaskar

Jan 22, 2017, 03:13 PM IST

२ महीने तक प्रैक्टिस की तब आया ऐसा बैलेंस, सिर पर मटकी और जलता दिया रख किया फोक डांस

लांगुरिया डांस में झलकी कोरिय लांगुरिया डांस में झलकी कोरिय
  • comment
ग्वालियर. सिर पर मटकी और उसके ऊपर जलता हुआ दीपक, और 10 मिनिट तक चंबल का तेज घुमावदार फुर्तीला फोक डांस लांगुरिया। बैलेंस ऐसा कि मटकी के ऊपर रखा एक भी दीपक हिला तक नहीं। हालांकि डांस में ऐसा बैलेंस आसानी से नहीं आया। इसके लिए ग्वालियरर मेले में परफोर्म करने वाली इन स्टूडेंट्स को 2 महीने तक रातदिन एक कर प्रैक्टिस करना पड़ी।

- शनिवार की रात ग्वालिय मेले के बाल महोत्सव में चेतना शिक्षा मंदिर की स्टूडेंट की लांगुरिया परफॉर्मेंस को देख दर्शक अचंभे में पड़ गए।
- ब्रज और बुंदेलखंड की मिश्रित आंचलिक बोली में लांगुरिया गीत, ‘कारो कूदि परो मेला में साइकिल पंचर कर ल्यायो’ पर दर्शक खुद झूमे, साथ ही परफोर्म कर रही लड़कियों का बैलेंस देख आश्चर्य में भी पड़ गए।
- इस फोक डांस के कोरियोग्राफर राहुल गोस्वामी ने बताया कि यह बैलेंस बनाने के लिए स्टूडेंट्स को 2 महीने के अभ्यास कड़ी प्रैक्टिस करानी पड़ी।
स्लाइड्स में हैं सिर पर मटकी और जलता दीपक रख परफोर्म करती स्टूडेंट्स....

X
लांगुरिया डांस में झलकी कोरियलांगुरिया डांस में झलकी कोरिय
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन