पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • क्या होगा पीएससी २०१३ का?, प्रतिभोगियों से प्रबंधन की चर्चा, बात नहीं बनी तो कोर्ट जाएंगे प्रतिभा

क्या होगा पीएससी २०१३ का?, प्रतिभोगियों से प्रबंधन की चर्चा, बात नहीं बनी तो कोर्ट जाएंगे प्रतिभागी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर. इसी साल 27 जुलाई को आयोजित हुई एमपी पीएससी 2013 को निरस्त किया जाएगा या नहीं? बोनस अंक 32 ही रहेंगे या शून्य होंगे? इन्हीं सब गंभीर बिंदुओं पर प्रतिभागियों का पक्ष जानने के लिए प्रबंधन ने बैठक शुरू कर दी है। बताते हैं कि बैठक में यह तय किया जा रहा है कि आखिर होगा क्या? फिलहाल प्रतिभागियों से सचिव मनोहर दुबे की चर्चा चलेगी। इसके बाद भी अगर प्रतिभागी संतुष्ट नहीं होते हैं तो फिर वे कोर्ट जाएंगे। इसमें वे परीक्षा परिणाम पर रोक लगाने की मांग करने के साथ ही परीक्षा ही निरस्त करने की मांग करेंगे।

दरअसल परीक्षा की मॉडल आंसरशीट जारी करने के बाद प्रबंधन द्वारा 16 गलत प्रश्नों के एवज में 32 बोनस अंक देने के ऐलान पर बवाल मचा हुआ है। इसे लेकर पीएससी कार्यालय पहुंचकर प्रतिभागियों ने परीक्षा ही निरस्त करने की मांग कर दी थी। प्रतियोगियों ने महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए पीएससी सचिव को ज्ञापन सौंपा था। इसमें बताया गया था कि महाराष्ट्र में केवल चार अंक बोनस के देने पर हाईकोर्ट ने परीक्षा निरस्त कर दी थी। हालांकि इस पर सचिव ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। इसलिए प्रबंधन ने इन प्रतियोगियों में से दो को शुक्रवार को फिर आने को कहा था। वही चर्चा अब जारी है। प्रतियोगियों ने साफ कर दिया है कि चर्चा सफल नहीं होती है तो हम कोर्ट जाएंगे और जल्द घोषित होने वाले रिजल्ट पर स्टे के लिए याचिका लगाएंगे।

400 प्रतियोगियों के साथ अन्याय, मेरिट लिस्ट में हुई गड़बड़ी
प्रतियोगियों ने ज्ञापन में आरोप लगाया कि बोनस अंक के बहाने मेरिट लिस्ट में गड़बड़ी हुई है। इसका खामियाजा सीधे-सीधे हम 400 प्रतिभागियों को भुगतना पड़ेगा। साथ ही यह भी कहा गया कि एक ही गाइड से 35 सवाल पूछा जाना भी यह दर्शाता है कि गड़बड़ हुई है।