• Hindi News
  • गुरु सिंघ सभा : 41 लाख रुपए भरने की मियाद 14 जनवरी

गुरु सिंघ सभा : 41 लाख रुपए भरने की मियाद 14 जनवरी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर . गुरु सिंघ सभा के अधीन आने वाले गुरुनानक पब्लिक स्कूल (खंडवा रोड) के चार कक्षाओं से जिला प्रशासन ने ताले जड़ दिए थे। क्योंकि पूर्व सभा ने बीते 19 वर्षों से टैक्स जमा नहीं किया गया था। नई कमेटी के गुजारिश पर कलेक्टर ने टैक्स जमा करने के लिए तीन दिन की मोहलत दी गई थी, जो सोमवार को खत्म हो रही है। सभा को सोमवार को 41 लाख से ज्यादा का टैक्स जमा कराना है।
गौरतलब है कि टैक्स नहीं जमा करने की एवज में बुधवार को प्रशासन के दल ने स्कूल की चार कक्षाओं को सील कर दिया था। गौरतलब है कि गुरु सिंघ सभा ने वर्ष 1994 से स्कूल का डायवर्शन टैक्स जमा नहीं कराया था। इसके चलते प्रशासन ने जुर्माने के साथ 41 लाख 42 नौ 55 रुपए डायवर्शन टैक्स निकालकर कक्षाएं सील कर दी। साथ में जल्द ही टैक्स जमा करने के निर्देश भी दे डाले। जबकि पूर्व सभा को प्रतिवर्ष एक लाख 36 हजार 290 रुपए जमा कराना थे। इस मामले पर नई कमेटी के सदस्यों ने कलेक्टर से मुलाकात कर मौजूद स्थिति से अवगत कराया। सदस्यों ने कहा कि पुरानी कमेटी ने सिर्फ संगत को धार्मिक यात्राएं कराने पर ही पूरा ध्यान दिया है। सभा के मूलभूत कामों पर ध्यान ही नहीं दिया गया। जिससे जुर्माने के साथ इतना टैक्स हो गया। पूरी बात सुनने के बाद कलेक्टर ने टैक्स जमा करने के लिए वर्तमान कमेटी को तीन से चार दिन का समय दिया हैं।
अब जमा क्यों नहीं किया गया टैक्स-
उधर, सिख समाज के लोगों की मानें तो सभा के चुनाव सात साल बाद हुए हैं। पूर्व गुरु सिंघ के प्रधान गुरदीप सिंह भाटिया बीते 12 साल तक पद पर काबिज रहे। जबकि इसके पहले वे सभा सदस्य भी थे। इतने लंबे कार्यकाल के बाद भी डायवर्शन टैक्स क्यों जमा नहीं किया गया? जबकि सिख समाज सम्पन्न समाज माना जाता है। इन गड़बडिय़ों के चलते ही संगत ने नई कमेटी को चुना है।