पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अंतिम मैच में फॉर्म में लौटे नमन ओझा

अंतिम मैच में फॉर्म में लौटे नमन ओझा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर। मध्यप्रदेश के विकेटकीपर बल्लेबाज नमन ओझा विजय हजारे ट्रॉफी सेंट्रल जोन लीग के अंतिम मैच में फॉर्म में लौट आए। उन्होंने विदर्भ के खिलाफ 83 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेलकर टीम को 68 रनों से जीत दर्ज करने में अहम भूमिका निभाई। इस जीत से मध्यप्रदेश टीम ने सेंट्रल जोन से 14 अंकों के साथ शीर्ष पर रहते हुए नॉकआउट में जगह बनाई।
इस जोन से क्वालिफाई होने वाली दूसरी टीम यूपी रही। उसके 12 अंक हैं। एक अन्य मैच में राजस्थान के पुनीत यादव ने 123 रनों की शतकीय पारी खेली और अंतिम मैच में अपनी टीम को रेलवे के खिलाफ 7 विकेट से जीत दिला दी। नॉकआउट की रेस से बाहर राजस्थान को इस जीत से 4 अंक मिले और 4 मैचों के बाद 8 अंक लेकर अंक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा। इस तरह उसने सांत्वना जीत हासिल की। नॉकआउट के मुकाबले 26 फरवरी से विशाखापट्नम में खेले जाएंगे।
एमरल्ड हाइट्स स्कूल मैदान पर मध्यप्रदेश के कप्तान उदित बिरला ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट पर 263 रन बनाए। जलज ने 16 और उनके बड़े भाई जतिन सक्सेना ने 61 रन बनाए। नमन ओझा ने पिछली तीन मैचों में 7, 2 और 7 रन की पारी खेली थी लेकिन इस मैच में उन्होंने 99 गेंदों में 83 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। नमन ने अपनी पारी में 6 चौके और 1 छक्का जमाया। हरप्रीत सिंह ने भी 39 रनों की पारी खेली।
जवाब में उतरी विदर्भ की टीम 47.1 ओवर में 195 रन पर आउट हो गई। जतिन सक्सेना ने बल्ले के बाद गेंद से भी करामात दिखाई और 5 विकेट झटके। जलज ने भी 2 विकेट लिए। विदर्भ की तरफ से अक्षय को लहर ने सर्वाधिक 45 रनों की पारी खेली। शलभ श्रीवास्तव ने भी 33 और अक्षय वाडकर ने 35 रनों की पारी खेली लेकिन यह जीत के काफी साबित नहीं हुई।
उधर होलकर स्टेडियम में राजस्थान ने रेलवे को 7 विकेट से हराया। रेलवे ने 48.5 ओवर में 231 रन बनाए। महेश रावत ने 81, शिवाकांत शुक्ला 47 और शादाब खान ने 34 रन बनाए। रमन चाहर और मधुर खत्री ने 3-3 विकेट लिए। जवाबी पारी में राजस्थान ने पुनीत के 123 रनों की शानदार पारी से 43.5 ओवर में 3 विकेट पर 232 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया। रॉबिन बिष्ट ने 49 रन बनाए।