• Hindi News
  • जाटों ने रोके दिल्ली के सभी रास्ते, हृ॥ १० से सटे संपर्क मार्गों पर डाली कंटीली झाड़ियां

जाटों ने रोके दिल्ली के सभी रास्ते, हृ॥-१० से सटे संपर्क मार्गों पर डाली कंटीली झाड़ियां

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रोहतक/बहादुरगढ़। आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का आंदोलन उग्र रूप ले चुका है। दो दिन से जहां सांपला में एनएच-10 को जाटों ने बंद किया हुआ है, वहीं सोमवार को इस्माइला में रेलवे ट्रैक पर बैठ जाने के कारण रोहतक से दिल्ली व अन्य राज्यों को आने-जाने वाली 78 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। 10 संपर्क मार्गों पर भी कंटीली झाड़ियां डालकर आवागमन बंद कर दिया गया है। इसके चलते कई ट्रेनों को पास के स्टेशनों पर खड़ा किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने किया था यूपीए सरकार की अधिसूचना को निरस्त

-जाटों को आरक्षण दिए जाने की मांग बहुत पुरानी है। करीब 15 साल पहले रुस्तम-ए-हिंद दारा सिंह के नेतृत्व में जाटों को आरक्षण का लाभ दिए जाने की मांग हरियाणा से उठी थी।
-इसके बाद 2010 में आंदोलन के दौरान कुछ लोगों की मौत हो जाने के चलते यह और उग्र रूप धारण कर गया।
- हालांकि यूपीए सरकार ने जाटों को ओबीसी की श्रेणी में रखने संबंधी अधिसूचना जारी की थी, लेकिन इसे सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त कर दिया था।

कई दिन से हो रहा है आंदाेलन
- जाट समुदाय ने शुक्रवार से रविवार तक हिसार के गांव मय्यड़ में हिसार-भिवानी रेल ट्रैक बाधित रखा, जिसके चलते दर्जनों ट्रेनें प्रभावित हुई।
- मय्यड़ में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के नेता कैप्टन हवा सिंह सांगवान के गुट को कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने मना लिया, लेकिन दूसरी तरफ दिल्ली और रोहतक के गांव सांपला में जाट नेता यशपाल मलिक के नेतृत्व वाले समुदाय के लोगों ने उग्र रूप धारण कर लिया।
- इसी के चलते जहां रोहतक-दिल्ली नेशनल हाईवे नंबर 10 पर वाहनों का आवागमन दो दिन से पूरी तरह बंद है, वहीं सोमवार को इससे सटे सभी लिंक रोड को जाट नेताओं ने बंद करवा दिया। (यह भी पढ़ें, दो दिन से जाम इस हाईवे की भीड़ पर बन चुकी फिल्म)
- हाईवे पर प्रदर्शनकारियों को मनाने कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ पहुंचे, लेकिन युवा विधानसभा के इसी सत्र में जाट आरक्षण संबंधी बिल लाए जाने की बात का आश्वासन लिखित मांग रहे थे।
- जाट समुदाय के युवा प्रदर्शनकारियों ने आगे संदेश भेजकर एनएच-10 से लगते आधा दर्जन संपर्क मार्गों पर भी कंटीली झाड़ियां डालकर आवागमन बंद करवा दिया।


इन सड़कों को किया गया है जाम
- सोमवार को जाम किए गए सड़क संपर्क मार्गों में बादली-झज्जर, सांपला-बादली, सांपला-झज्जर, बहादुरगढ़-झज्जर और बहादुरढ़-बेरी रोड पर आवागमन बिलकुल बंद है।
- रोहतक में दिल्ली रोड, सोनीपत रोड, झज्जर रोड पर भी जाटों ने लगाया जाम।


ट्रेनें भी प्रभावित
- आंदोलनकारियों ने इस्माइला में रेल ट्रैक को बाधित कर गोरखपुर धाम एक्सप्रेस, छिंदवाड़ा एक्सप्रेस व दो पैसेंजर ट्रेनों को रोक लिया।
- साथ ही बहादुरगढ़ स्टेशन पर भी कई ट्रेनें खड़ी हैं, जिनमें तेल और कोयले के रैक के अलावा पैसेंजर गाड़ियां भी शामिल हैं।

जाम से सरकार को 21 लाख के टोल का घाटा
- उधर एनएच-10 पर स्थित रोहद टोल प्लाजा के मैनेजर एमके झा ने बताया कि रविवार शाम से अब तक हाईवे पर जाम के चलते आवागनम पूरी तरह बंद है। इससे सरकार को करीब 21 लाख रुपए का राजस्व घाटा हुआ है।

सीएम ने की जाम खोलने की अपील

-मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है, जो अपनी रिपोर्ट 31 मार्च तक सौंपेगी। जाट समुदाय के लोगों से अपील है कि इस तरह आम जनता को नहीं करें। व्यवस्था में केन्द्र सरकार, प्रदेश सरकार, कानून, न्यायपालिका के निर्णय आदि के सभी पहलुओं पर यह कमेटी विचार करके ही अपना निर्णय देगी।


आगे की स्लाइड्स में पढ़ें जाट आरक्षण पर सरकार और कोर्ट का पूरा रुख...