पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुड़गांव में हड़ताल से एक हजार करोड़ का नुकसान

गुड़गांव में हड़ताल से एक हजार करोड़ का नुकसान

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गुड़गांव। ट्रेड यूनियनों की देशव्यापी हड़ताल का असर राजधानी दिल्ली और नोएडा में सबसे ज्यादा दिखा, लेकिन राष्ट्रीय राजधानी क्षेञ की साईबर सिटी गुड़गांव में इसका असर कुछ ज्यादा नहीं देखने को मिला है। यहां हड़ताल (बंद) का मिला-जुला असर है। शहर में ऑटो सेवा सुचारू है। हालांकि हरियाणा रोडवेज की बसों का परिचालन पूरी तरह से बंद है। दिल्ली परिवहन निगम की बसों के जरिए लोग अपने गंतव्य तक पहुंच रहे हैं। (नोएडा में 400 फक्ट्रियों में तोड़फोड़ के बाद तनाव, सबसे बड़ी हड़ताल का दिल्ली पर बड़ा 'असर')

बैंकों की हड़ताल से गुड़गांव में एक हजार करोड़ रूपए का व्यवसाय प्रभावित होगा। यहां सबसे ज्यादा कामगार मजदूरों के हड़ताल में शामिल होने की वजह से उद्योग जगत को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। शहर के प्रमुख बस स्टैुंड के बंद रहने की वजह से यहां लोगों को काफी ज्यापदा दिक्कीतों का सामना करना पड़ रहा है। शहर में सरकारी बैंक पूरी तरह से बंद हैं, जबकि निजी बैकों में काम रोजाना की तरह पूरे समय चलता रहा। वहीं, सभी विभागों, उद्योगों, असंगठित क्षेञ के मजदूरों ने बस स्टैंड पर दिन भर प्रदर्शन का दौर जारी रखा।


सीटू नेता भोलाराम की अध्यंक्षता में कमला नेहरू पार्क में सभा हुई। सीटू प्रदेश अध्य,क्ष डा. सतबीर सिंह, भवन निर्माण मजदूर यूनियन के प्रदेश उपाधयक्ष डॉ विरेंद्र मलिक, सीटू के जिला प्रधान कामरेड भोलानाथ, उपाध्यरक्ष कामरेड वीरेंद्र यादव, आरडीसी प्रधान श्यामलाल आदि नेताओं ने सभा की और प्रदर्शन करते हुए रोडवेज डिपो पर पहुंचे। यहां भी सरकार विरोधी नारे लगाए और जमकर प्रदर्शन किया। सतबीर‍ ने कहा कि २१ फरवरी को भी पूरा औधोगिक क्षेञ हड़ताल पर रहेगा।

आगे स्‍लाइड में देखिए गुड़गांव में बंद का असर और सुरक्षा इंतजाम।

20 फरवरी की खास खबरें

नोएडा में 400 फक्ट्रियों में तोड़फोड़ के बाद तनाव, सबसे बड़ी हड़ताल का दिल्ली पर बड़ा 'असर'

छत्‍तीसगढ़ के मिशन स्‍कूल में फादर ने किया चार छात्राओं के साथ रेप !

20 सेकंड में डाउनलोड हो जाती है 3 घंटे की मूवी!

अमानवीयता : पहले बिस्किट खिलाया और फिर गोली मार दी

स्लीपर में छह बर्थ सिर्फ महिलाओं के लिए, 2250 रु. में कीजिए कहीं भी हवाई सफर

संघ का सर्वे: मोदी में नहीं है अकेले भाजपा की सरकार बनवा पाने का दम

टीम इंडिया में सस्‍पेंस: टेंशन में हरभजन, कंगारू अलर्ट!

चीन पाकिस्तान से रख रहा है भारत पर नजर

बापू फिर विवादों में, आसाराम के भक्‍तों ने मचाया उत्‍पात