फर्जी सर्टिफिकेट का मामला: बरवाला के सरपंच बलजिन्द्र की कुर्सी खतरे में

Nov 11, 2019, 07:35 AM IST

डीसी पंचकूला ने जारी किया नोटिस, 13 को तलब किया है अपनी सफाई देने के लिए


संजय पारवाला | बरवाला।

डीसी पंचकूला ने बरवाला ग्राम पंचायत के सरपंच बलजिन्द्र गोयल को नोटिस जारी कर तलब किया है। प्रधान को 13 नवंबर को डीसी ऑफिस में पेश होकर अपनी सफाई देने को कहा है। पंचायत सरपंच पर आरोप था कि उन्होंने चुनाव के दौरान दसवीं का जाली प्रमाण पत्र दिया था। शिकायत के बाद जब जांच कराई गई तो सामने आया कि उन्होंने सच में जाली प्रमाण पत्र दिया था।

आरोप सही साबित होने पर अब उनके खिलाफ हरियाणा पंचायती राज अधिनियम के तहत कार्रवाई की जानी है। इसके तहत उन्हें सरपंच पद से हटाया जाएगा और साथ ही छह साल के लिए पंचायती राज चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य करार दिया जाएगा। इसलिए यह कार्रवाई करने से पहले डीसी ने उन्हें अपनी सफाई देने के लिए 13 को पंचकूला तलब किया है। डीसी ने रिकॉर्ड और सबूतों के साथ सरपंच को हाजिर होने के आदेश दिए हैं और कहा है कि अगर वे इस तिथि को पेश नहीं होते हैं तो यह समझा जाएगा कि वे अपनी सफाई में कुछ नहीं कहना चाहते हैं।

पद से हटाने और अयोग्य करार देने से पहले उन्हें यह एक मौका दिया जा रहा है। फरवरी 2017 में सरपंच बलजिन्द्र गोयल पर चंडीमंदिर थाने में फर्जी सर्टीफिकेट को लेकर मामला भी दर्ज किया था। इसके बाद से उन पर गिरफ्तारी की तलवार लगातार लटकी रही है। लेकिन अब सरपंच की कुर्सी साफ जाती नजर आ रही है।

नोटिस का नहीं दिया जवाब

हरियाणा पंचायती राज अधिनियम, 1994 की धारा 51(3) व 51 (4) के तहत गोयल को सरपंच पद से हटाने और पंचायती राज संस्थाओं से चुनाव लड़ने से 6 साल के लिए अयोग्य घोषित करने बारे में कारण बताओ नोटिस भेजा गया था, इसका जवाब उन्होंने नहीं दिया।


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना