Hindi News »Sports »Cricket »Latest News» Chandimal Denies Sweet In Pocket Ball Tampering As Sri Lanka Pile On Runs

क्रिकेट में तीन महीने बाद फिर बॉल टेम्परिंग, श्रीलंकाई कप्तान चंदीमल पर स्वीटनर से गेंद चमकाने का आरोप

श्रीलंकाई कप्तान ने अपनी बाईं जेब से स्वीटनर निकाला, उसे मुंह में रखा और बाद में मुंह से उसे गेंद पर लगा दिया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 18, 2018, 04:29 PM IST

क्रिकेट में तीन महीने बाद फिर बॉल टेम्परिंग, श्रीलंकाई कप्तान चंदीमल पर स्वीटनर से गेंद चमकाने का आरोप, sports news in hindi, sports news
  • आगे क्या: आज ही चंदीमल के खिलाफ सुनवाई, दोषी पाए गए तो एक मैच का बैन लग सकता है
  • मार्च में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने टेम्परिंग की बात कबूली थी, इस मामले में चंदीमल का आरोपों से इनकार
  • नवंबर 2017 में श्रीलंका के मीडियम पेसर दासुन शनाका पर भारत के खिलाफ मैच में गेंद से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था

ग्रोस आइलेट (सेंट लूसिया). श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंदीमल पर आरोप लगा है कि उन्होंने अपनी जेब में रखे स्वीटनर से बॉल टेम्परिंग की। ये वाकया श्रीलंका-वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन हुआ। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीन महीने में दूसरी बार बॉल टेम्परिंग का मामला सामने आया। मार्च में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरून बेनक्रॉफ्ट ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट के दौरान बॉल टेम्परिंग की थी। बाद में कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर ने भी टेम्परिंग की साजिश रचने की बात कबूली थी। ताजा मामले में चंदीमल ने बॉल टेम्परिंग के आरोपों से इनकार किया है।


श्रीलंका-वेस्टइंडीज टेस्ट के तीसरे दिन श्रीलंका को विकटों की तलाश थी। तभी ऑन फील्ड अंपायर अलीम डार, इयान गुल्ड और टीवी अंपायर रिचर्ड कैटलबोरो ने गेंद चमकाने के श्रीलंकाई कप्तान के तरीके पर चिंता जताई। ब्रॉडकास्टर्स से फुटेज मांगे ताकि मामले की तह तक जाया जा सके। अंपायारों ने अगले दिन सुबह फुटेज देखे। इसमें नजर आया कि श्रीलंकाई कप्तान ने अपनी बाईं जेब से स्वीटनर निकाला, उसे मुंह में रखा और बाद में मुंह से उसे गेंद पर लगा दिया। फिर गेंद श्रीलंकाई गेंदबाज लहीरू कुमारा को दे दी।

वेस्टइंडीज टीम को मिले पांच रन : फुटेज देखने के बाद अंपायरों ने कहा कि चंदीमल ने बॉल की स्थिति बदलने के लिए ऐसा किया। उन पर आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाया गया। ये सब तब हुआ, जब टीम को मैदान पर उतरने में महज 10 मिनट बाकी थे। अंपायर अलीम डार और इयान गुल्ड ने बॉल बदल दी और वेस्ट इंडीज को पांच पेनाल्टी रन अवॉर्ड कर दिए। इससे नाराज श्रीलंकाई खिलाड़ी शनिवार को मैदान पर उतरने को राजी नहीं हुए। वे मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ से बात करते रहे। टीम मैनेजमेंट ने कोलंबो में श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड से भी फोन पर भी बात की। दो घंटे बाद सभी खिलाड़ी मैदान पर आ गए।

चंदीमल पर बैन लग सकता है, मैच फीस काटी जा सकती है : आज ही चंदीमल के मामले में रेफरी जवागल श्रीनाथ सुनवाई करेंगे। अगर वे दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें शनिवार से बारबाडोस में खेले जाने वाले सीरीज के तीसरे और फाइनल टेस्ट से सस्पेंड किया जा सकता है। 50 से 100 फीसदी मैच फीस काटी जा सकती है। आईसीसी क्रिकेट कमेटी ने सिफारिश की थी कि अगर कोई खिलाड़ी बॉल टेम्परिंग का दोषी पाया जाता है तो उस पर एक-दो टेस्ट का नहीं, बल्कि चार टेस्ट या 8 वनडे इंटरनेशनल का बैन होना चाहिए। इस सिफारिश पर अभी अमल नहीं हुआ है।

वर्ल्ड क्रिकेट में श्रीलंका और इस सीरीज में टीम पीछे
चंदीमल ने बॉल टेम्परिंग क्यों की, इसके पीछे दो वजहें हो सकती हैं। पहली- वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मैच श्रीलंका हार चुका था। दूसरे मैच में जब बॉल टेम्परिंग का आरोप लगा, तब पहली पारी के हिसाब से वेस्टइंडीज से पिछड़ने का खतरा था। दूसरी- जयवर्धने और संगकारा के संन्यास के बाद श्रीलंकाई क्रिकेट की हालत खराब है। सिर्फ 2017 में ही श्रीलंका ने अलग-अलग फॉर्मेट में सात खिलाड़ियों को कप्तान के रूप में आजमाया। ये हैं एंजेलो मैथ्यूज, लसिथ मलिंग, रंगना हेराथ, दिनेश चंदीमल, थरंगा और चमारा कपुगेदरा। आईसीसी रैंकिंग में श्रीलंका टेस्ट में छठे, वनडे में आठवें और टी20 में नौवें स्थान पर है।

श्रीलंकाकुल मैचडेढ़ साल में जीतडेढ़ साल में हार
टेस्ट1658
वनडे28820
टी2021813

कब-कब लगे टेम्परिंग के आरोप : स्मिथ ने इसी के चलते कप्तानी गंवाई
1) ऑस्ट्रेलिया
: मार्च 2018 में बॉल टैम्परिंग मामले में आईसीसी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट के दौरान टेप से बॉल टेम्परिंग का दोषी पाया। आईसीसी ने स्मिथ को एक मैच के लिए सस्पेंड किया था। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ने स्मिथ और वॉर्नर को एक-एक साल और बैनक्रॉफ्ट को 9 महीने के लिए बैन कर दिया। स्मिथ और वॉर्नर के भविष्य में कभी भी कप्तानी करने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया।

2) दक्षिण अफ्रीका: 2016 में द. अफ्रीका के डुप्लेसिस होबार्ट टेस्ट में टॉफी खाकर लार गेंद पर लगाते हुए पकड़े गए। मैच फीस का 100% जुर्माना लगा। 2014 में फिलेंडर ने श्रीलंका के खिलाफ टैम्परिंग की। मैच फीस का 75% जुर्माना लगा।

3) पाकिस्तान : 2002 में वकार यूनुस पहले गेंदबाज थे, जिन पर बॉल टेम्परिंग के आरोप में एक मैच का बैन लगा था। 2006 में ओवल टेस्ट में पाक टीम पर बॉल टैम्परिंग का आरोप। पेनल्टी लगने पर पाकिस्तान का खेलने से इनकार। इंग्लैंड विजेता घोषित। 2010 में पाक क्रिकेटर अाफरीदी दांत से गेंद की सीम काटते दिखे। दो मैच का बैन लगा।

4) भारत : 2001 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पोर्ट एलिजाबेथ टेस्ट में सचिन पर बॉल टैम्परिंग का आरोप लगा। सचिन नाखून से गेंद की सीम पर कुछ करते दिखे थे। एक मैच का बैन लगा। भारत की ओर से मैच रेफरी डेनिस पर नस्लीय भेदभाव का आरोप लगा। बाद में आईसीसी ने सचिन को क्लीन चिट दे दी

5) इंग्लैंड : 1994 में इंग्लैंड के क्रिकेटर माइक अार्थटन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में बॉल टैम्परिंग करते हुए दिखे। उस वक्त इंग्लिश अोपनर पर दो हजार पाउंड का जुर्माना लगाया गया। इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों जेम्स एंडरसन और स्टुअर्टब्रॉड पर भी कई बार बॉल टैम्परिंग के आरोप लग चुके हैं।

6) श्रीलंका : नवंबर 2017 में भारत के खिलाफ मैच में श्रीलंका के मीडियम पेसर दासुन शनाका पर भी गेंद से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था। वे कैमरे में गेंद की सीम का काटते हुए नजर आए थे। उन्होंने मैच रेफरी डेविड बून के समक्ष अपना अपराध स्वीकार भी कर लिया था। उन पर मैच फीस का 75 फीसदी जुर्माना लगा था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×