रमन और मोहिले के दबाव में बनाए 21 लाख फर्जी राशनकार्ड, इनसे हर साल 3 हजार करोड़ का घोटाला

News - फर्जी कार्डों से 3 सालों तक चावल, दाल, चना का घोटाला किया गया शपथपत्र में भट्ट ने 2013 में 21 लाख फर्जी राशन कार्ड...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:46 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news 21 lakh fake ration cards made under the pressure of raman and mohile scam of 3 thousand crores every year
फर्जी कार्डों से 3 सालों तक चावल, दाल, चना का घोटाला किया गया

शपथपत्र में भट्ट ने 2013 में 21 लाख फर्जी राशन कार्ड बनाने का उल्लेख करते हुए कहा- पूर्व सीएम के अलावा पूर्व मंत्री मोहले और तत्कालीन नान चेयरमैन लीलाराम भोजवानी ने फर्जी कार्ड बनवाए थे। इन राशन कार्डों का उपयोग 3 साल तक चावल, चना दाल, नमक, मिट्टी तेल, गैस और खाद्य पदार्थों की अफरा-तफरी में किया गया। इन फर्जी राशन कार्डों से हर महीने शासन को 266 करोड़, अर्थात सालभर में शासन को 3 हजार करोड़ का नुकसान हुआ। इसके बाद डा. रमन ने लोगों के सामने स्वीकार किया कि 12 लाख कार्ड फर्जी हैं, उन्हें निरस्त किया जाएगा।

शपथपत्र कोर्ट में लंबित

हालांकि मामले में शिव शंकर भट्ट ने कोर्ट में धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने अावेदन दिया था, जिस पर कोर्ट ने 25 सितंबर की तारीख दी है। शपथपत्र भी कोर्ट में पेश हो गया है, लेकिन अदालत ने अब तक निर्देश नहीं दिए हैं कि इसे नान घोटाले की जांच में शामिल किया जाएगा या नहीं।

सीएम हाउस में 3 करोड़ देने की बात मनगढ़ंत: रमन

नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्‌ट के 164 के तहत शपथ पत्र के बाद पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने कहा कि जो खुद इस मामले का मुख्य आरोपी रहा है जिसकी जमानत हाईकोर्ट ने भी रद्द कर दी उससे दवाबपूर्वक सरकार ने बयान दर्ज करवाया है। रमन सिंह ने कहा कि यह सरकार अपराधियों के कंधों पर बंदूक रखकर चला रही है। नान घोटाले में अपना नाम आने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए डा. सिंह ने कहा कि तत्कालीन सीएम हाउस में जो भी आता-जाता है उसका पूरा रिकार्ड रखा जाता है इसलिए तीन करोड़ छोड़ने की बात पूरी तरह मनगढ़ंत हैं। शेष|पेज 10





उन्होंनेे कहा कि भट्‌ट उनके आैर पुन्नूलाल के साथ काम कर चुका है इसलिए उन्हें फंसाने के लिए ही उसने ऐसा बयान दिया है।

लेनदेन के आरोप पर उन्होंने कहा कि भाजपा चेक से लेनदेन करती है आैर हर साल इसका ऑडिट होता है। जहां तक 21 लाख फर्जी राशनकार्ड की बात है तो नाम जोड़ने का काम पंचायतों का होता है रमन सिंह ने किसी का नाम नहीं जोड़ा है। उन्होंने कहा कि मंतूराम से भी सरकार ने दबावपूर्वक बयान दिलवाया है। क्योंकि उसने हाईकोर्ट में कुछ आैर बयान दिया था। रमन ने इसे कांग्रेस द्वारा सत्ता का दुरुपयोग करार दिया है। उन्होंने भीमा मंडावी की हत्या पर कहा कि जिस दिन नामांकन दाखिल करना था ठीक उसी दिन उसकी रिपोर्ट पेश कर उसे सामान्य घटना बताने की कोशिश की गई। कांग्रेस ने राजनीतिक लाभ लेने के लिए ऐसा किया है।

डा. रमन सिंह

अगला अटैक रमन के परिवार पर : अजीत जोगी

इधर, जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी ने दिल्ली से लौटते ही सरकार पर हमला बोला। अस्पताल में बेटे अमित जोगी से मिलकर बाहर आने के बाद अजीत जोगी ने कहा कि पर्सनल अटैक हो रहे हैं। राजनीति में भूपेश बघेल ने इसकी संभावनाएं पैदा कर दी हैं। अब अगला अटैक रमन सिंह के परिवार पर होगा। अमित जोगी को गिरफ्तार करके भूपेश बघेल ने जोगी परिवार के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है। अभी अजीत जोगी, रेणु जोगी और ऋचा जोगी बाहर हैं। भूपेश बघेल ने शुरू किया है, अब बात निकली है तो दूर तलक जाएगी।

Raipur News - chhattisgarh news 21 lakh fake ration cards made under the pressure of raman and mohile scam of 3 thousand crores every year
X
Raipur News - chhattisgarh news 21 lakh fake ration cards made under the pressure of raman and mohile scam of 3 thousand crores every year
Raipur News - chhattisgarh news 21 lakh fake ration cards made under the pressure of raman and mohile scam of 3 thousand crores every year
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना