दूसरे राज्यों से लौटे 4000 मजदूरों की जांच की है जरूरत

Champa News - कोरोना वायरस की जंग लड़ने के लिए जिले के लोग वैसे तो प्रधानमंत्री के आह्वान पर भी अपने घरों में नहीं ठहर रहे हैं।...

Mar 27, 2020, 06:52 AM IST

कोरोना वायरस की जंग लड़ने के लिए जिले के लोग वैसे तो प्रधानमंत्री के आह्वान पर भी अपने घरों में नहीं ठहर रहे हैं। उनके द्वारा खींची गई लक्ष्मण रेखा रोज टूट रही है। जिले में इस लड़ाई में सबसे बड़ी बाधा बनकर आए हैं जिले से कमाने खाने के लिए परदेस गए वे लोग जो बीमारी फैलने पर अपने अपने गांव लौट कर आए हैं, ऐसे लोगों की संख्या हमारे जिले में 4000 से अधिक है।

जिले से बड़ी संख्या में पलायन होता है। यहां से मजदूर जम्मू कश्मीर से लेकर भारत के तमाम अन्य प्रदेशों में कमाने खाने के लिए परिवार सहित जाते हैं। ऐसे लोग बीमारी शुरू होने पर लौट आए हैं। अब चूंकि ट्रेन व बसों का परिवहन रोक दिया गया है, इसलिए अब इनकी संख्या बढ़ने की संभावना कम है, लेकिन जिला पंचायत से मिली जानकारी के अनुसार जिले में ऐसे 4000 से अधिक मजदूरों को चिह्नांकित किया गया है, जो हाल में बाहर से लौटे हैं।

इन मजदूरों की प्रारंभिक जांच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रोंं जिला अस्पतालों में की गई है। इसके बाद उन सभी लोगों को कम से कम 14 दिनों तक अपने घरों से न निकलने की हिदायत दी गई है, किंतु पढ़े लिखे लोग जब सरकार के आदेश की अवहेलना कर रहे हैं तब तो श्रमिक वर्ग तो इन सब चीजों को गंभीरता से लेता ही नहीं है।

उधर, 350 घराें के प्रत्येक सदस्य की हुई जांच शुरू


सरकार ने विदेश से लौटे लोगों को होम आइसोलेशन में रखा है। जिले में अभी तक तो 17 घरों की पहचान हई है, जहां इतने ही लोग विदेश से वापस लौटे हैं। सीएमएचओ डॉ. एसआर बंजारे के अनुसार इनमें से 10 लोगों ने क्रमश: 14 व 28 दिनों का होम आइसोलेशन पूरा कर लिया है। जांच में इनमें कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं। बचे 7 लोग अभी भी होम आइसोलेशन में हैं। इनके घरों को चिह्नांकित किया जा चुका है। अब उनके घरों के आजू बाजे रहने वाले 25-25 यानि 50 घरों की जांच की जाएगी। इस प्रकार 350 घरों के प्रत्येक सदस्य की जांच करने का काम गुरुवार से शुरू कर दिया गया है।


गांव वालों को होना होगा जागरूक

प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा ऐसे लोगों को व उनके घरों को चिह्नांकित कर दिया है। ऐसे लोगों के घरों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्टिकर लगाकर अन्य लोगों को कहा है कि उन घरों में न जाएं तथा उन्हें भी घरों से न निकलने दें, लेकिन यह काम प्रशासन के बजाय गांव वालों के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है। उनकी जिम्मेदारी ही इस बीमारी से बचा सकती है।

घरों में जांच करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना