बीजेपी में जिलाध्यक्ष नहीं बनेंगे 50 पार नेता, नए चेहरों को मौका

News - बीजेपी इस बार सभी जिलों में नए चेहरों को जिलाध्यक्ष बनाएगी। इसमें संगठन में सक्रिय और मुखर होने के साथ-साथ 50 साल से...

Nov 11, 2019, 07:32 AM IST
बीजेपी इस बार सभी जिलों में नए चेहरों को जिलाध्यक्ष बनाएगी। इसमें संगठन में सक्रिय और मुखर होने के साथ-साथ 50 साल से कम उम्र के ही कार्यकर्ताओं को मौका दिया जाएगा। हालांकि मंडल चुनाव में जिस तरह विवाद की स्थिति बनी थी, उससे पहले समन्वय पर जोर दिया जा रहा है। इसके लिए जिलों के प्रमुख नेता व कोर ग्रुप के सदस्य बैठकर सभी दावेदारों के नाम पर विचार करेंगे और इनमें कुछ नाम चुनकर प्रदेश कमेटी को भेजेंगे। इन नामों में से ही एक पर मुहर लगेगी। कई मंडलों में भी अध्यक्षों को दोबारा मौका दिया गया है, उन्हें भी बदला जा सकता है, जिससे नए चेहरे सामने आ सकें। राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद बीजेपी के निचले स्तर के कार्यकर्ता भी वर्तमान नेतृत्व के खिलाफ खुलकर बगावत कर रहे हैं। इसे ध्यान में रखकर ही प्रदेश पदाधिकारियों ने ऐसे चेहरों को सामने लाने का फैसला किया है, जो नई ऊर्जा के साथ पार्टी को फिर से सत्ता में वापसी के लिए मेहनत करें। इस तरह बार-बार कुछ लोगों को ही मौका मिलने पर जो नाराजगी थी, वह भी दूर की जा सकेगी।

सांसद-विधायकों से करेंगे रायशुमारी

राज्य में बीजेपी की सरकार नहीं बनी है, लेकिन 9 सांसद बड़े हिस्से का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। यही वजह है कि नए जिलाध्यक्ष की नियुक्ति में सांसद व विधायकों से रायशुमारी की जाएगी, जिससे दोनों के समन्वय से संगठन को ज्यादा मजबूत बनाया जा सके। आने वाले समय में नगरीय निकाय चुनाव के साथ-साथ राज्य सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन भी किए जाने हैं। इसमें सांसद व विधायकों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी।



इस कारण भी जिलाध्यक्ष का चयन करने में उनकी पसंद का ध्यान रखा जाएगा। इसके अलावा नगर निगम, पालिका व पंचायतों में पार्षद उम्मीदवारों का नाम तय करने में भी समन्वय पर जोर दिया जाएगा।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना