बाहर से आ रहे लोगों को घर पर ही आइसोलेट होने की दी सलाह

Balod News - कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए क्वारेंटाइन और होम आइसोलेशन को लेकर डॉक्टरों की ओर से...

Mar 27, 2020, 06:36 AM IST

कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए क्वारेंटाइन और होम आइसोलेशन को लेकर डॉक्टरों की ओर से लोगों को लगातार सलाह दी जा रही है। डॉक्टर उन्हें क्वारेंटाइन व होम आइसोलेशन की जानकारी दे रहे हैं।

क्वारेंटाइन व होम आइसोलेशन का शब्द हर कोई सुन रहा है, लेकिन इसका सही मतलब क्या है और इस दौरान करना क्या है इस संबंध में बेमेतरा जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ एसके पाल बताते हैं कि आइसोलेशन में अन्य प्रदेश से आए लोगों यदि ऐसे लोगों के संपर्क में आ चुके हैं और उन्हें पता नहीं है या वायरस के प्रभाव का अंदेशा है, तो उसे आइसोलेशन में रहने के लिए कहा जाता है।

ऐसे में वह अपने घर में रहेगा। घर से बाहर किसी प्रकार की कोई गतिविधि नहीं करेगा। 14 दिन तक लगातार उसे घर पर ही रहना है।

बताया गया कि आइसोलेशन दो प्रकार के हैं। देश में ही विभिन्न प्रदेशों से आए हुए लोगों को घर में ही 14 दिनों के लिए अलग रहना होगा। वहीं साथ ही वायरस के सिम्टम्स पाए जाने पर तत्काल उन्हें शासकीय चिकित्सालय या चिकित्सक को जानकारी देनी होगी। वहीं विदेश से आने वाले लोगों के लिए शासन प्रशासन द्वारा अलग ही व्यवस्था की गई है।

उन्हें विशेष तौर पर अलग स्थानों पर रखा गया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना