सामूहिक फैसला कर गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर लगाई रोक, कर रहे जागरूक

Kawardha News - कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर मंगलवार को पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा बाद लोगाें का घरों से निकलना बंद...

Mar 27, 2020, 07:00 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news ban on entry of outsiders in the village by making collective decision aware

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर मंगलवार को पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा बाद लोगाें का घरों से निकलना बंद हो गया है। लाेग कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सतर्कता बरत रहे हैं। रायपुर, राजनांदगांव में कोरोना के पॉजिटिव मरीज की पहचान के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। इसका प्रभाव ग्रामीण क्षेत्रों में भी दिखने लगा है।

सहसपुरलोहारा ब्लॉक के ग्राम सोरी में गुरुवार को पंचायत ने काेरोना वायरस से बचाव को लेकर बैठक कर सामूहिक फैसला कर गांव में बाहर से पहुंचने वाले लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी। इस दौरान पंचायत ने गांव के मुख्य द्वार के सामने सड़क पर कांटे की झाडिय़ां रखकर ब्लाक कर दिया।

साथ ही मार्ग में सूचना बोर्ड लगाकर बाहरी लोगों के गांव में प्रवेश नहीं करने अपील की है। बाहरी व्यक्ति के गांव में प्रवेश करने पर 25 हजार रुपए का दंड निर्धारित किया गया है। ग्राम सारी सरपंच सुंदर पाटिल ने बताया कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए गांव में लोगों से चर्चा करने के बाद गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई। उन्होंने बताया कि ग्राम सारी की जनसंख्या करीब 1 हजार है। इसी तरह बिरनपुर कला की जनसंख्या 1084 है। कोरोना की दहशत से लोगों ने इस तरह का फैसला लिया है।

पुलिस टीम ने गांव का भ्रमण कर लोगों को घरों से नहीं निकलने दी हिदायत : देश भर में लॉकडाउन के बाद पुलिस टीम भी सक्रिय हो गई है। शहर के मुख्य मार्ग में पुलिस जवान तैनात किए गए है। इसके साथ ही जवान गांव में भ्रमण कर घरों से नहीं निकलने समझाइश दे रहे है। गुरुवार को पुलिस टीम ने ग्राम सोरी गांव में भ्रमण कर लोगों को घरो से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी। साथ ही दुकानदारों को निर्धारित समय तक ही दुकान खोलने की समझाइश दी। कोटवार गांव में बाहर से पहुंचने वाले लोगों की जानकारी जुटा रहा है।

6 दिन पहले दूसरे प्रदेश से पहुंचे 15 मजदूर, जांच नहीं

ग्राम पंचायत सारी से पुणे महाराष्ट्र सहित अलग- अलग प्रदेश में मजदूरी करने गए गांव के करीब 15 मजदूर 6 दिन पहले गांव लौटे है। इससे ग्रामीणों में और दहशत फैल गया है। सहसपुर लोहारा बीएमओ संजय खर्सन ने बताया कि दूसरे प्रदेश मजदूरी करने गए गांव के 15 मजदूर 6 दिन पहले गांव लौटे है। मजदूरों ने कोटवार के माध्यम से गांव में पहुंचने की सूचना दी है। स्वास्थ्य टीम द्वारा घर घर जाकर स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है। साथ ही ग्रामीणों को कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सतर्कता बरतने जानकारी भी दी जा रही है। बाहर से पहुंचे मजदूरों का भी स्वास्थ्य जांच किया जाएगा। सोरी के पड़ोसी ग्राम कुल्लु में बुधवार बीती रात बाहरी लोगों के आने की जानकारी मिल रही है। टीम को भेजकर उनके स्वास्थ्य जांच के साथ घरों में ही रहने कहा जाएगा।


दिखाई जागरुकता, लॉकडाउन का कर रहे हैं पालन

कोरोना से बचाव को लेकर ग्रामीणों ने जागरुकता दिखाई है। ग्रामीणों ने सामूहिक फैसला कर बीमारी से बचने गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। ऐसा करने पर दंडित किया जाएगा। हालांकि गांव के किसी व्यक्ति को आवश्यक काम आने पर जाने दिया जाएगा। इसके साथ ही बिरनपुर कला में भी ग्रामीणों ने गांव के मुख्य मार्ग को झाड़ियों और कांटे से बंद कर गांव में बाहरी लोगों का प्रवेश बंद कर दिया है। ग्राम सारी के जिपं सदस्य प्रतिनिधि रामचरण साहू ने बताया की देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस से बचाव काे लेकर यह फैसला लिया गया है। लोगों ने प्रधानमंत्री द्वारा लॉक डाउन के समर्थन में गांव के सभी रास्ते को सुबह से बंद कर िदया। ताकि बाहर का व्यक्ति गांव में प्रवेश न कर सके। गांव के लोग भी अनावश्यक कार्यों से गांव के बाहर नहीं जा सकेंगे।


सभी रहें सुरक्षित: कोरोना से बचाव के लिए गांव के लोगों ने लिया निर्णय

ग्राम सोरी में ग्रामीणों को कोरोना से बचाव के उपाए बताते डॉक्टर।

X
Kawardha News - chhattisgarh news ban on entry of outsiders in the village by making collective decision aware

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना