• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • News
  • Raipur News chhattisgarh news contract to grow grass in 45 days agency ordered seeds from punjab which could not grow even after one and half year

45 दिन में घास उगाने का ठेका, एजेंसी ने पंजाब से मंगाए बीज जो डेढ़ साल बाद भी नहीं उग पाए

News - डीबी स्टार

Nov 10, 2019, 07:46 AM IST
डीबी स्टार
डीबी स्टार को सप्रे स्कूल मैदान के जीर्णोद्धार में लापरवाही बरतने की जानकारी मिली थी। इसकी पड़ताल में सामने आया कि एजेंसी और निगम के जिम्मेदार दाेनों ही ग्राउंड की मिट्‌टी िनकालने और घास लगाने में लापरवाही बरत रहे हैं। डीबी स्टार के पास मौजूद दस्तावेज बताते हैं कि इसके लिए जून 2018 में मैदान के जीर्णोद्धार का ठेका एजेंसी को दिया गया था। इसके बावजूद 17 माह बाद भी यह कार्य पूरा नहीं हो पाया है। जबकि इसके लिए 45 दिनों का समय एजेंसी को दिया गया था। वहीं, कार्य समय पर नहीं होने की वजह से ठेकेदार को दो बार निगम की ओर से नोटिस जारी किया जा चुका है। ऐसे में समय पर काम नहीं होने का खामियाजा राजधानी के युवा खिलाड़ियों को उठाना पड़ रहा है।

फैक्ट फाइल

2018 जून में दिया ठेका

07 लाख रुपए की लागत

45 दिन की डेडलाइन

05 लाख का भुगतान

17 माह बाद भी काम अधूरा

पंजाब से मंगवाए बीज मिट्‌टी की खुदाई कर दूब घास उगानी थी। वहीं, एजेंसी ने पंजाब प्रांत में पाई जाने वाली घास की सीडिंग करवाई। जो कि प्रदेश की जलवायु के अनुकूल नहीं है। विशेषज्ञों के अनुसार यह घास ठंडे वातावरण में ही उग पाती है। एजेंसी की लापरवाही से यह कार्य डेढ़ साल बाद भी अधूरा है।

घास की सीडिंग की गई थी

निगम को पता ही नहीं

इस पूरे ठेके में एजेंसी और निगम के जिम्मेदार दोनों ही आमने-सामने हैं। विभागीय अधिकारियों के अनुसार ठेकेदार का कहना है कि घास लगाई जा चुकी है, लेकिन निगम का कहना है कि इसका भौतिक सत्यापन नहीं होता है। एजेंसी के 7 लाख में से ढाई लाख रुपए रोक दिए गए हैं।


इसलिए नहीं उगा पाए

शहर के बीच ग्राउंड होने से यहां सैकड़ों लोग क्रिकेट समेत कई खेल खेलते हैं। वहीं, इसके परिसर में आने के लिए गेट भी 24 घंटे तक खुले रहते हैं। साथ ही मवेशियों का डेरा यहां पर रहता है। इसी वजह से सीडिंग करने के बाद घास काे उगने का समय नहीं मिला और सीडिंग बेकार चली जाती है।

सीधी बात

दो बार नोटिस देने के बाद भी काम नहीं

ईश्वर लाल टावरे, असिस्टेंट इंजीनियर, जोन-7


हां, एजेंसी को मिट्‌टी की खोदाई कर घास लगाने का काम दिया गया था, लेकिन घास अब भी नहीं लगाया गया है।


समय पर कार्य नहीं होने से एजेंसी को दो बार नोटिस जारी किया जा चुका है। ठेकेदार का कहना है कि घास लगाई जा चुकी है, लेकिन इसका भौतिक सत्यापन नहीं होता है।


एजेंसी ने 15 से 20 दिनों का समय मांगा है, जल्द ही कार्य पूरा हो जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना