रायपुर में पहली बार साइबर निगरानी, एसएसपी के साथ 15 एक्सपर्ट की सोशल मीडिया पर 24 घंटे नजर

News - छत्तीसगढ़ पुलिस ने पहली बार अयोध्या फैसले के पहले से अब तक राजधानी रायपुर में सोशल मीडिया को कड़ी निगरानी में रखा...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:45 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news cyber surveillance for the first time in raipur 15 experts with ssp 24 hours on social media
छत्तीसगढ़ पुलिस ने पहली बार अयोध्या फैसले के पहले से अब तक राजधानी रायपुर में सोशल मीडिया को कड़ी निगरानी में रखा है। 15 साइबर एक्सपर्ट्स और इंटेलिजेंस अफसरों की टीम ने पिछले 48 घंटे में रायपुर में शेयर किए गए 20 हजार से ज्यादा मैसेजेस को देखा है। रायपुर एसएसपी अारिफ शेख के मुताबिक इनमें से शनिवार की रात तक केवल 2 पोस्ट विवादित मिलीं, जिनसे माहौल खराब होने का खतरा हो सकता था। जिन लोगों ने ये पोस्ट किए थे, उनकी पहचान कर पुलिस ने जैसे ही उन्हें काॅल कर चेतावनी दी, दोनों ने अपने अकाउंट और प्रोफाइल तक डिलीट कर दिए। उसके बाद से रविवार रात तक ऐसा कोई पोस्ट नहीं हुअा, जिससे शहर की शांति प्रभावित हो।

छत्तीसगढ़ पुलिस ने सोशल मीडिया की निगरानी पहली बार की है और फिलहाल इसका दायरा केवल राजधानी तक सीमित है। पुलिस का दावा है कि राजधानी में जितने भी सोशल मीडिया यूजर्स हैं, उनके अधिकांश पोस्ट पुलिस की नजर में हैं। सेंट्रल इंटेलिजेंस ब्यूरो ने इसके लिए एक हाईटेक सॉफ्टवेयर बनवाया था, जो रायपुर पुलिस के पास है। यहां एक्सपर्ट इसी की मदद से सोशल मीडिया की निगरानी कर रहे हैं। लेकिन इस साफ्टवेयर का इस्तेमाल अाम लोगों के लिए कठिन है। यही वजह है कि पुलिस महकमे के ऐसे अफसरों तथा राजधानी के लोगों को लगाया गया है, जो साइबर मामलों में एक्सपर्ट माने जाते हैं।

एक्सक्लूसिव

सोशल मीडिया पर 48 घंटे में 20 हजार पोस्ट जांचे गए, विवादित थे सिर्फ दो, पुलिस का काॅल जाते ही यूजर्स ने अकाउंट डिलीट कर दिया

40% ग्रुप में घुसी पुलिस

एसएसपी ने दावा किया कि इस दफा डिजिटल प्लेटफार्म पर ज्यादा नजर इसलिए रखी गई, क्योंकि सड़क से ज्यादा सोशल मीडिया की सुरक्षा की जरूरत है। यही वजह है कि शहर के सारे बड़े वाट्सएप ग्रुप अाइडेंटिफाई किए गए हैं और वाट्सएप, इंस्टाग्राम और टेलीग्राम जैसे मैसेंजर ग्रुप्स में से 40 फीसदी से ज्यादा में पुलिस के जवान घुस चुके हैं। राम जन्मभूमि या अयोध्या फैसले से संबंधित सभी पोस्ट को बारीकी से पढ़ा जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसके लिए समाज के प्रमुखों के अलावा कार्यकर्ताओं की मदद ली जा रही है।

हैश-टैग और एट द रेट हैंडल भी नजर में

रायपुर पुलिस ने इस बार सोशल मीडिया के दो प्रमुख हैंडल हैश टैग और एट द रेट पर खास नजर रखी है, क्योंकि फेसबुक और ट्विटर में अयोध्या फैसले पर हैश टैग से ज्यादा पोस्ट हो रही हैं। इनमें #अयोध्या फैसला, #अयोध्या रिजल्ट और #राम मंदिर निर्माण सबसे ज्यादा ड्राइव है। कुछ नए हैंडल भी जांच में पुलिस की नजर में अाए हैं, जिनकी पड़ताल की जा रही है।

सवा दो लाख ने सर्च किया अयोध्या मामला

साइबर एक्सपर्ट के अनुसार राज्य में सिर्फ 24 घंटे में ही सवा दो लाख लोगों ने चैनल में लाइव प्रसारण और सोशल मीडिया पोस्ट के बाद भी गुगल में अयोध्या मामला सर्च किया है। देश में छत्तीसगढ़ सातवां राज्य है, जहां अयोध्या फैसला को लोग इंटरनेट पर खोज रहे थे। पहले नंबर पर यूपी, दूसरे में बिहार, तीसरे में मध्यप्रदेश हैं। वहीं रायपुर पुलिस ने भी 20 हजार से ज्यादा सोशल मीडिया पोस्ट की जांच की है।

विवादित पोस्ट करने वालों को सीधे जेल होगी, बेल नहीं


X
Raipur News - chhattisgarh news cyber surveillance for the first time in raipur 15 experts with ssp 24 hours on social media
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना