बेटी ने दहेज में अपने वजन के बराबर किताबें मांगी पिता ने 2,200 पुस्तकें जुटाईं

News - राजकोट | बेटियों का संस्कार, पीढ़ियों का संस्कार होता है। यह बात गुजरात में राजकोट के नानामवा गांव के...

Feb 14, 2020, 07:41 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news daughter asks for books equal to her weight in dowry father raised 2200 books

राजकोट | बेटियों का संस्कार, पीढ़ियों का संस्कार होता है। यह बात गुजरात में राजकोट के नानामवा गांव के शिक्षक-प्रिंसिपल हरदेव सिंह जाडेजा ने साबित कर दिखाई। आमतौर पर लोग बेटी को ससुराल विदा करते समय उसे उपहार के तौर पर गहने, कपड़े, वाहन और नकदी देते हैं, लेकिन गुरुवार को हरदेव सिंह ने बेटी को उसकी ख्वाहिश के मुताबिक शादी में उसके वजन के बराबर करीब 2,200 किताबें दीं।शेष|पेज 10

X
Raipur News - chhattisgarh news daughter asks for books equal to her weight in dowry father raised 2200 books
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना