बिहार से 160 किमी पैदल चलकर रामानुजगंज पहुंचा दिव्यांग युवक

Ambikapur News - लॉकडाउन होने के कारण दिव्यांग ट्रक ड्राइवर बिहार से 160 किलोमीटर पैदल चलकर गुरुवार दोपहर रामानुजगंज पहुंचा। इसके...

Mar 27, 2020, 07:31 AM IST

लॉकडाउन होने के कारण दिव्यांग ट्रक ड्राइवर बिहार से 160 किलोमीटर पैदल चलकर गुरुवार दोपहर रामानुजगंज पहुंचा। इसके बाद बाइक से अपने गृह ग्राम चन्द्रनगर गया। दिव्यांग एनुल 26 वर्ष पिता सुल्तान अंसारी ट्रक ड्राइवर है। जो लॉकडाउन के पहले ट्रक में क्लिंकर लोड कर बिहार के औरंगाबाद गया था। वह लॉकडाउन के कारण औरंगाबाद में ही फंस गया। वह बुधवार सुबह 9 बजे के करीब औरंगाबाद से पैदल चला था और रामानुजगंज पहुंचा। जहां से अपने परिचित के साथ बाइक से गृह ग्राम गया। उसने बताया कि दो दिन तक बिस्किट मिक्चर से गुजारा किया।

रामानुजगंज लॉकडाउन के घोषणा के पहले ही दिन थोक किराना व्यापारियों ने रोजमर्रा के सामान का भाव 30 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है। इससे खुदरा बिक्री दर में भी वृद्धि हो गई। लॉकडाउन के एक दिन पहले जहां सरसों तेल 95 रुपए लीटर था। वह अब 125 रुपए लीटर बिकने लगा है। आटा-दाल सहित अन्य रोजमर्रा के खाद्य सामग्री के दाम बढ़ा दिए गए हैं।

लॉकडाउन के 24 घंटे के अंदर जहां थोक किराना व्यापारियों के द्वारा रेट में 30 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि कर दी गई। वहीं सब्जी के थोक मार्केट में भी आलू प्याज की कीमतों में वृद्धि हो गई।

कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए उठे हाथ

नगर के कई लोगों ने कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में राशि भेजी है। ईरा पब्लिक के संचालक राकेश गुप्ता ने 25000 भेजे। उनके स्कूल के सभी शिक्षकों ने अपने 2 दिन का वेतन भी भेजा है। कांग्रेसी नेता कौशल जायसवाल ने भी 5 हजार की सहायता राशि भेजी है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना