कोरोना से बचने खैरा के बाहर नाका, बासबिनोरी में दीवार लेखन

Anchalik News - कोरोना वाइरस को लेकर दूरदराज के छोटे-छोटे गांवों के ग्रामीण अपने गांव के लोगों की सुरक्षा को लेकर गंभीर हो गए...

Mar 27, 2020, 07:11 AM IST

कोरोना वाइरस को लेकर दूरदराज के छोटे-छोटे गांवों के ग्रामीण अपने गांव के लोगों की सुरक्षा को लेकर गंभीर हो गए हैं। ग्रामीण गांव के बाहर नाका और बैनर तो कहीं गांव में दीवाल लेखन कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। पलारी ब्लॉक के महानदी किनारे ग्राम पंचायत अमेठी का आश्रित गांव है खैरा, जिसकी आबादी लगभग 500 है।

यहां के लोग खुद गांव से बाहर नहीं जा रहे हैं और न अपने गांव के अंदर किसी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश करने दे रहे हैं। इसके लिए गांव पहुंचने वाले रास्ते को बांस का बैरिकैड बनाकर गांव को पूरी तरह सील कर दिया गया है। इसी तरह ग्राम बासबिनोरी में भी लोगों ने गांव को जागरूक करने दीवारों पर कोरोना वाइरस से बचाव के नारे लिख दिए हैं। जनसहयोग का यही जज्बा कायम रहा तो बीमारी पर विजय निश्चित नजर आ रही है। यहां बाहरी लोगों को प्रवेश भी नहीं करने दिया जा रहा है। गांव के बाहर बाहरी का प्रवेश वर्जित लिख दिया गया है। ग्रामीण सेवक ध्रुव, महेश, गोविंदा, टीकाराम, मुरारी, धनेश्वरी, तीज बाई ने बताया कि हमारा गांव बहुत छोटा है और हम सब एक परिवार की तरह ही रहते हैं, इसलिए हमको पूरे गांव के लोगों की चिंता है। इस गांव में जितने लोग हैं, उनके सारे रिश्ते नातेदारों को गांव के लोग जानते हैं मगर अभी बाहर से लोग कुछ कुछ बेचने के लिए आ जाते हैं जो कहा से आ रहे हैं, कैसे आ रहे हैं, पता नहीं इसलिए जब तक कोरोना वाइरस का संकट नहीं कटता इस गांव का कोई व्यक्ति न तो बाहर जाएगा न ही कोई बाहर का व्यक्ति गांव में आएगा।

बासबिनोरी गांव में गांव वालों ने किया दीवार लेखन।

पलारी. ।ग्राम खैरा में ग्रामीणों ने गांव पहुंच मार्ग को किया सील।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना