शाम की ओपीडी का बहिष्कार डॉक्टरों का काटा जाएगा वेतन

News - जिला अस्पतालों में शाम की ओपीडी बहिष्कार करने वाले डॉक्टरों को अनुपस्थित मानकर उनका वेतन काटा जाएगा। यही नहीं...

Jan 16, 2020, 07:36 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news evening opd boycott doctors39 salary will be deducted
जिला अस्पतालों में शाम की ओपीडी बहिष्कार करने वाले डॉक्टरों को अनुपस्थित मानकर उनका वेतन काटा जाएगा। यही नहीं जिला अस्पताल का कार्य आपातकालीन सेवा के तहत आता है, इसलिए अनुपस्थित डॉक्टरों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। हेल्थ डायरेक्टर नीरज बनसोड़ ने बुधवार को सभी सीएमएचओ व सिविल सर्जन को पत्र लिखकर ओपीडी में नहीं जाने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है।

प्रदेश के जिला अस्पतालों में एक जनवरी से सुबह व शाम की ओपीडी शुरू की गई है। इससे लोगांे काे इलाज कराने के लिए विकल्प मिल रहा है। महासमुंद, बैकुंठपुर, कोरबा व जांजगीर-चांपा जिला अस्पतालों के डॉक्टर शाम की ओपीडी का बहिष्कार कर रहे हैं। इससे मरीजों को भटकना पड़ रहा है और वे निजी अस्पतालों में इलाज कराने जा रहे हैं। सप्ताहभर पहले हेल्थ डायरेक्टर ने बहिष्कार कर रहे डॉक्टरों की मांगों के संबंध में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। कमेटी ने रिपोर्ट दे दी है और शाम की ओपीडी को मरीजों के हित में बताया है।

जिन जिलों में ओपीडी का बहिष्कार किया जा रहा है। वहां नोटिस दी गई है। वहां के सिविल सर्जन ने डॉक्टरों को कोई नोटिस नहीं दिया। इस पर संचालनालय के आला अधिकारियों ने नाराजगी जताई है। सिविल सर्जन व सीएमओ द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किए जाने के बाद ही हेल्थ डायरेक्टर को सभी जिलों के सीएमएचओ व सिविल सर्जन को आदेशित करना पड़ा है। जो डॉक्टर ओपीडी का बहिष्कार कर रहे हैं, वे एक पाली में ओपीडी करने की मांग कर रहे हैं। दूसरी ओर रायपुर जिला अस्पताल में अब शाम की ओपीडी में 50 से ज्यादा मरीजों का इलाज किया जा रहा है।





शुरुआती दिनों में बारिश व बढ़ी ठंड के कारण 12 से 20 मरीजों का इलाज किया जा रहा था।





कालीबाड़ी स्थित मातृ-शिशु अस्पताल में गर्भवती महिलाएं इलाज के लिए पहुंच रही हैं।

X
Raipur News - chhattisgarh news evening opd boycott doctors39 salary will be deducted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना