• Hindi News
  • Rajya
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • News
  • Raipur News chhattisgarh news for 11 years brahmin society has been paying obeisance to martyrs giving food to the hungry copy books in schools and distributing fruits in hospitals

11 साल से शहीदों का श्राद्ध कर रहा है ब्राह्मण समाज, भूखों को देते हैं भोजन, स्कूलों में कॉपी-किताब और अस्पतालों में फल भी बांट रहे

News - कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर पितृ पक्ष शुरू हो गया है। सुबह से लोग नदी-तालाबों में अपने-अपने पितरोें को तर्पण...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:41 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news for 11 years brahmin society has been paying obeisance to martyrs giving food to the hungry copy books in schools and distributing fruits in hospitals
कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर

पितृ पक्ष शुरू हो गया है। सुबह से लोग नदी-तालाबों में अपने-अपने पितरोें को तर्पण देने के लिए जुटने लगे हैं। इधर, सर्व ब्राह्मण समाज स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और शहीदों को तर्पण देने की तैयारियों में जुट गया है। 11 साल से समाज पितृ पक्ष इसी तरह से मना रहा है। इन 15 दिनों में समाज अलग-अलग तरह से जरूरतमंदों की मदद भी करता है। सोमवार को समाज बूढ़ातालाब में 11 पंडितों की मौजूदगी में मंत्रोच्चार के साथ शहीदों को तर्पण देगा। करीब 2 घंटे के इस अनुष्ठान में स्वतंत्रता सेनानियों और शहीद जवानों के नाम पर विविध धार्मिक क्रियाएं की जाएंगी। इसी दिन रायपुरा स्थित स्वतंत्रता सेनानी स्व. गिरिजाशंकर मिश्र स्कूल में समाज छात्राओं को कॉपी-किताब, बैग बांटेगा। अगले दिन यानी मंगलवार को कैलाशपुरी स्थित छत्तीसगढ़ सदन में गोष्ठी रखी गई है। यहां महात्मा गांधी, चंद्रशेखर आजाद, सुभाषचंद्र बोस, भगत सिंह समेत उन क्रांतिकारियों की जीवनी पर भी चर्चा होगी, जिन्हें इतिहास में भूला दिया गया है। बुधवार को कुष्ठ बस्ती और अस्पतालों में फल वितरण किया जाएगा। इस बीच समाज मंदिर, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आदि जगहों पर जरूरतमंदों के भोजन की व्यवस्था भी करेगा।

पितृ पक्ष पर विशेष

सर्व ब्राह्मण समाज की पहल
गुरुवार को बैठक बुलाकर समाज ने की तैयारियों पर चर्चा।

आज प्रतिपदा... भरणी श्राद्ध 18, मातृनवमी 23 को

ज्योतिषाचार्य डॉ. दत्तात्रेय होस्केरे ने बताया कि शनिवार को प्रतिपदा है और श्राद्ध का पहला दिन भी। द्वितीया 15 और 16, दोनों दिन है। 18 को चतुर्दशी है। इस भरणी नक्षत्र भी है। अगर पितरों का श्राद्ध तय तिथि पर नहीं हो पा रहा हो तो इस दिन उनका श्राद्ध किया जा सकता है। मातृनवमी 23 सितंबर को पड़ेगी।

जिनका कोई अपना नहीं उनका भी कराएंगे श्राद्ध

समाज ऐसे लोगों का भी श्राद्ध कराएगा जिनका कोई अपना नहीं था। इसके अलावा देशभर में समाज के जितने दिवंगत हैं, उनके नाम से भी तर्पण किया जाएगा। समाज के प्रांताध्यक्ष ललित मिश्रा ने कहा कि शास्त्रों में अर्पण, तर्पण और समर्पण को प्राथमिकता दी गई है। अर्पण यानी समाज के लिए त्याग। तर्पण मतलब पितरों के लिए त्याग और ईश्वर के लिए किए गए त्याग को समर्पण माना गया है। इसी के अनुरूप सर्व ब्राह्मण समाज साल 2008 से श्राद्ध मना रहा है।

X
Raipur News - chhattisgarh news for 11 years brahmin society has been paying obeisance to martyrs giving food to the hungry copy books in schools and distributing fruits in hospitals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना