राजिम से विदेशों तक बेचे गए करोड़ों के मोबाइल, जीएसटी कर रहा जांच

News - डायरेक्टर जनरल आफ जीएसटी इंटेलिजेंस ने (डीजीजीआई) द्वारा देशभर में 336 ठिकानों के साथ ही नवापारा राजिम में भी...

Sep 14, 2019, 07:40 AM IST
डायरेक्टर जनरल आफ जीएसटी इंटेलिजेंस ने (डीजीजीआई) द्वारा देशभर में 336 ठिकानों के साथ ही नवापारा राजिम में भी छापेमारी कर रिकार्ड या दस्तावेज जब्त किए हैं। प्रारंभिक जांच व संबंधित व्यक्तियों के बयानों से पता चला है कि 470 करोड़ रुपए जिसका चालान मूल्य करीब 3500 करोड़ रुपए होता है का इनपुट टैक्स क्रेडिट फर्जी है। इनमें से दो करोड़ 82 लाख रुपए छत्तीसगढ़ में नवापारा-राजिम की मोबाइल बेचने वाली फर्म के निकले हैं, जिसने देशभर में मोबाइल सप्लाई किए हैं। अब जीएसटी का इंटेलिजेंस विभाग उन फर्मों की सूची तलाशने में लगा है जिनको राजिम से एक कंपनी के 2.82 करोड़ के मोबाइल सप्लाई किए गए।

सूची मिलने पर जांच का दायरा बढ़ सकता है। यह भी आशंका जताई जा रही है कि मोबाइल केवल भारत में ही बेचे नहीं गए। देश के बाहर भी सप्लाई किए गए। ये मोबाइल केवल छह महीने में पुणे की एक फर्म को सप्लाई किए गए हैं। छत्तीसगढ़ की इंटेलिजेंस टीम ने अपना एक्साइज वाले पार्ट की जांच कर मामला आगे बढ़ा दिया है। जांच में मिले सबूत हेड क्वाटर भेजे जा रहे हैं। अब कस्टम विभाग भी इसकी जांच करेगा। मालूम हो कि गुरुवार को एडिशनल डायरेक्टर जनरल इंटेलिजेंस अजय पांडेय के निर्देश पर छह सदस्यीय टीम ने नवापारा-राजिम में छापेमारी कर जांच की थी।

बताते हैं कि कल की 336 ठिकानों को खंगालने पर जांच में पता चला है कि कि करीब 3500 करोड़ रुपए के चालान मूल्य जिसे निर्यातकों द्वारा आईटीसी के माध्यम से निर्यात पर आईजीएसटी के भुगतान के लिए उपयोग किया गया। जिसका बाद में रिफंड क्लेम भी किया है। कई व्यापारिक संस्थाएं या तो अस्तित्वहीन थीं या तो उनके पते काल्पनिक थे।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना