जैकेट व पेज 1 के शेष

News - प्रदेश में 6 कोरोना मरीज, एक ऐसा भी जो विदेश तो दूर देश में कहीं नहीं गया बुधवार को अाधी रात यह बात अाई थी कि...

Mar 27, 2020, 07:26 AM IST

प्रदेश में 6 कोरोना मरीज, एक ऐसा भी जो विदेश तो दूर देश में कहीं नहीं गया

बुधवार को अाधी रात यह बात अाई थी कि एम्स की जांच में 3 और मरीजों में कोरोना पाजिटिव मिला है। लेकिन अस्पताल प्रशासन से लेकर अफसर तक इस बात की पुष्टि करने के लिए तैयार नहीं थे। अगले कुछ हफ्ते तक दैनिक भास्कर कोरोना मरीजों से जुड़ी उन्हीं खबरों को प्रकाशित करेगा, जिनकी अधिकारिक पुष्टि हो जाए।

रायपुर में विदेश से लौटे 17 लोगों की पुलिस ने शुरू की खोजबीन

जांच रिपोर्ट पुलिस औैर प्रशासन को अनिवार्य तौर पर देनी है। किसी भी तरह की जानकारी छिपाने पर ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बिना जांच के घूमना दूसरे लोगों की जान से खिलवाड़ करना माना जाएगा। प्रशासन ने इनकी सूची जारी करते हुए कहा कि इनके बारे में कोई भी व्यक्ति टोल-फ्री नंबर 104 पर सूचना दे सकता है।

अार्थिक पक्ष न देखें, मानवीय हितों काे वैश्वीकरण के केंद्र में रखें: माेदी

मोदी ने कहा, मानवता के साझा हिताें काे प्राेत्साहित करने में बहुपक्षीय मंच कम प्रभावी रहे। भले ही वह अातंकवाद से लड़ने की बात हाे या जलवायु परिवर्तन का मुद्दा। काेराेना संकट इसका एक अाैर उदाहरण है। यह हमारे सबसे कीमती संसाधन हमारी जिंदगी छीन रहा है। वहीं, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि यह वायरस काेई सीमाएं नहीं मानता।

सीएजी: मकानों की रजिस्ट्री समेत कई विभागों में सरकार की कमाई 72% तक घटी, शराब से 28% बढ़ी

सेल्स टैक्स, एक्साइज टैक्स, विद्युत कर, वाहन कर, स्टॉम्प एवं पंजीकरण शुल्क और खनिजों पर 3 हजार 545 करोड़ रुपए का बकाया था, जिसमें से 1314 करोड़ रुपए पांच साल से भी ज्यादा समय से लंबित था। पिछले साल की तुलना में इन छह विभागों के राजस्व की बकाया राशि 2690 करोड़ रुपए से बढ़कर 3545 करोड़ रुपए हो गई है।

ऑडिट के लिए नहीं दिए 87 दस्तावेज : 2017-18 में राजस्व की कमाई में योगदान देने वाले कई विभागों ने 87 नस्तियां/ दस्तावेज लेखा परीक्षा के लिए नहीं दिए। इसकी वजह से इन विभागों में खर्च की गई राशि को सत्यापित नहीं किया जा सका। इसमें वाणिज्य कर ने 85, वन विभाग और खनन विभाग ने एक दस्तावेज पेश नहीं किए थे। सीएजी ने इस पर आपत्ति जताते हुए इसे खतरे का सूचक बताया है। साथ ही कहा है कि धोखाधड़ी की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। सीएजी ने लेखा परीक्षा के लिए डॉक्यूमेंट पेश नहीं करने वाले अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की है।

बिना पेड़ लगाए खर्च कर डाले 3 करोड़ : वन विभाग के अंतर्गत राज्य कैम्पा मद से कराए जाने वाले वृक्षारोपण कार्यक्रम में भी गड़बड़ी उजागर हुई है। दो वन मंडलाधिकारियों ने क्षतिपूर्ति वनीकरण के लिए गलत स्थान का चयन किया और बिना वृक्षारोपण के ही तीन करोड़ 73 लाख रुपए खर्च कर दिया। इसके अलावा पीसीसीएफ राज्य कैम्पा ने नार्म्स से कम पौधे लगाकर लगभग 79 लाख रुपए अधिक खर्च किए। सीएजी की रिपोर्ट में वन विभाग द्वारा 119 करोड़ रुपए से ज्यादा की वित्तीय अनियमितता उजागर हुई है।

न्यूजीलैंड: क्राइस्ट चर्च हमले के अाॅस्ट्रेलियाई नागरिक ने गुनाह कबूला, 51 लोगों की मौत हुई थी

सुनवाई के दाैरान काेर्ट में अन नूर अाैर लिनवुड मस्जिद के दाे इमाम अाैर पीड़ित परिवाराें से जुड़े लाेग भी माैजूद थे। काेराेनावायरस के कारण न्यूजीलैंड में गुरुवार काे लाॅकडाउन की घाेषणा हाेने से काेर्ट में ज्यादा लाेगाें काे अाने की अनुमति नहीं थी। ब्रेंटन ने 15 मार्च 2019 को क्राइस्टचर्च की अल नूर अाैर लिनवुड मस्जिदाें में अंधाधुंध गोलीबारी की थी। इस हमले काे ब्रेंटन ने हेडकैम के जरिए फेसबुक लाइव किया था। बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर िलया था। दोनों मस्जिदों में हमले की पहली बरसी पर न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न ने कहा था कि इस हमले के कारण न्यूजीलैंड बुनियादी रूप से बदल गया है। उन्हाेंने कहा था कि कट्टरता रोकने के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत है।

लॉकडाउन जून तक चला तो 30% मॉडर्न रिटेल स्टोर्स बंद हो सकते हैं

बंद के कारण उन स्टोर को भी घाटा हो रहा है जो फूड आइटम्स, किराना जैसे जरूरी सामान के साथ कपड़े या दूसरी चीजें बेचते हैं। सबसे खराब हालत कपड़ा, ज्वेलरी, जूते, सीडीआईटी (कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, ड्यूरेबल, आईटी एंड टेलीफोंस) स्टोर्स की है। वी मार्ट रिटेल के सीएमडी ललित अग्रवाल ने बताया, ‘देश में हमारे 265 स्टोर्स हैं। मार्च के शुरुआती 10 दिनों में कारोबार 20% और उसके बाद 50% कम हो गया था। अब कारोबार लगभग बंद है।’ अग्रवाल ने कहा कि कर्मचारियों के वेतन, स्टोर्स का किराया आदि फिक्स खर्च 25 से 30 करोड़ रुपए प्रति महीना है। हमें नहीं पता कि लॉकडाउन कब तक चलेगा, लेकिन हम अपने 8000 कर्मचारियों को वेतन देते रहेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना