• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • News
  • Raipur News chhattisgarh news married 18 daughters in two years financial assistance to 53 families in death row distributing clothes to the needy

दो साल में 18 बेटियों की शादी करवाई, 53 परिवारों को मृत्युभोज में की आर्थिक मदद, जरूरतमंदों को बांट रहे कपड़े

News - डीबी स्टार

Nov 10, 2019, 07:46 AM IST
डीबी स्टार
राजधानी में जाने कितने ही ऐसे गरीब माता-पिता हैं। जिनको बेटियों की शादी को लेकर चिंता रहती है। ऐसे माता-पिता की बेटियों की शादी को लेकर संस्था एक पहल के अध्यक्ष पहलाज खेमानी ने दो साल पहले काम करना शुरु किया। उन्होंने बताया कि एक कामगार महिला को बेटी की शादी को लेकर परिचितों से मदद के लिए गुहार लगाते देखा। जो उनके पास दहेज के सामान की उम्मीद से आई थी। उनकी व्यथा सुनने के बाद दोस्तों और परिचितों से सहमति बनाकर 150 से ज्यादा सदस्य बनाए। बाद में आपसी सहयोग से शरद पूर्णिमा के मौके पर बेटियों का सामुहिक विवाह करवाने लगे। इसमें वर-वधू पक्ष से किसी प्रकार का सहयोग नहीं लेते और बेटे-बेटियों को वैवाहिक परिधान देने से लेकर रिसेप्शन तक की जिम्मेदारी निभाते हैं।

ऐसे माता-पिता तो जो बेटियों की शादी पर होने वाले खर्च उठाने में सक्षम नहीं होते हैं। उनकी बेटियों की शादी का जिम्मा सामाजिक सरोकार से जुड़ी संस्था एक पहल और लेती है। साथ ही 53 गरीब परिवारों के मृत्युभोज का खर्च भी उठाया है।

500 से ज्यादा लोगों को वस्त्रदान

संस्था के सदस्यों द्वारा बस्तियों में रहने वाले ऐसे परिवार जो अपनों को नए कपड़े नहीं दे पाते हैं। ऐसे 500 से ज्यादा लोगों को पर्व की खुशियां बांटने के लिए कपड़े उपलब्ध करवाए जाते हैं।

बुजुर्गों की घर वापसी का प्रयास

संस्था शहर में ऐसे परिवारों के पास पहुंचती है। जिनसे दूर होकर बुजुर्ग दर-दर की ठोकर खाने मजबूर हैं। ऐसे परिवार के लोगों से बात करके उनके बीच आपसी सामंजस्य को बढ़ाकर 42 बुजुर्गों की परिवार में वापसी करवा चुके हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना