माशिमं को 120 से ज्यादा स्कूलों ने नहीं भेजे छात्रों के प्रोजेक्ट के अंक

News - प्रदेश के निजी स्कूल बोर्ड परीक्षा की प्रक्रियाओं में जमकर लापरवाही कर रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि बोर्ड कक्षाओं...

Mar 27, 2020, 07:26 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news more than 120 schools did not send students project marks to mashim
प्रदेश के निजी स्कूल बोर्ड परीक्षा की प्रक्रियाओं में जमकर लापरवाही कर रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाएं भी समाप्त हो गई हैं, इसके बावजूद अब तक स्कूलों ने बच्चों के प्रोजेक्ट के अंक नहीं भेजे हैं। इसकी वजह से रिजल्ट के साथ विद्यार्थियों के रिकॉर्ड मेंटेन करने में परेशानियां हो रही हैं।

डीबी स्टार को जानकारी मिली कि कई स्कूलों ने अब तक बोर्ड विद्यार्थियों के प्रोजेक्ट के अंक नहीं भेजे हैं। टीम ने इसकी पड़ताल की ताे सामने आया कि प्रदेश के 120 से ज्यादा स्कूलों ने अब तक बच्चों के प्रोजेक्ट परीक्षाओं के अंक नहीं भेजे हैं। वहीं, इसके लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने जनवरी अंत तक का समय दिया था। इसके बावजूद स्कूलों ने लापरवाही बरती है, इसकी वजह से माशिमं द्वारा कॉपियों के मूल्यांकन से लेकर बच्चों का डाटा तैयार करने के लिए जो रोडमैप बनाया है, उसमें डिले हो रहा है। वहीं, माध्यमिक शिक्षा मंडल ने दो महीने बाद लापरवाही बरतने वाले सभी स्कूलों को नोटिस भी जारी किया है। इसके बाद जुर्माना लगाने की तैयारी भी की गई है।

जानिए, किस तरह से तय किए गए हैं अंक

कक्षा 10वीं

हिंदी 75 अंक सैद्धांतिक 25 अंक प्रोजेक्ट

संस्कृत 75 अंक सैद्धांतिक 25 अंक प्रोजेक्ट

सामाजिक विज्ञान 75 अंक सैद्धांतिक 25 अंक प्रोजेक्ट

गणित 75 अंक सैद्धांतिक 25 अंक प्रोजेक्ट

विज्ञान 75 अंक सैद्धांतिक 25 अंक प्रायोगिक

मुख्य परीक्षा में जुड़ने हैं प्रोजेक्ट के 25 अंक

इस सत्र से शुरू की गई प्रोजेक्ट परीक्षाओं की इस व्यवस्था में 25 अंक की परीक्षाएं ली जानी हैं। जिसमें पास होने के लिए न्यूनतम 8 अंकों का होना जरूरी है। वहीं, मुख्य परीक्षा 75 अंकों की ली गई हैं, जिसमें 25 अंक लाना अनिवार्य किया गया है। इसके बावजूद लापरवाही बरती जा रही है।

रिजल्ट बनाने से लेकर रिकॉर्ड
मेंटेन करने में होगी देरी


जनवरी में परीक्षाएं होने के बाद अंत तक इसका डाटा अपडेट करने के निर्देश दिए गए। इसके बावजूद स्कूलों ने दो माह तक इसका डाटा अपडेट नहीं किया। वहीं, अब काेरोना की वजह से कॉपियों के मूल्यांकन से लेकर अन्य कार्य बाधित हो गया है। वहीं, स्कूलों में भी लॉकडाउन की स्थिति की वजह से जानकारी अपडेट नहीं हो पा रही है।

सीधी बात

{ कई स्कूलों ने अब तक प्रोजेक्ट परीक्षाओं के अंक नहीं भेजे हैं?

– हां, कुछ स्कूलों ने नहीं किए हैं, उन्हें नोटिस जारी किया गया है।

{ इन स्कूलों पर किस तरह की कार्रवाई की गई?

– अभी कुछ नहीं कह सकते, सभी जगह लॉकडाउन है, फिर भी कई स्कूलों ने नोटिस के बाद अपडेट किया होगा।

{ कब तक इन्हें अल्टीमेटम दिया गया है?

– अभी सभी स्कूलों में लॉकडाउन की स्थिति है। इसके सामान्य होने के बाद ही कुछ कह पाना संभव होगा।

जनवरी अंत तक स्कूलों से भेजी जानी थी जानकारी

रिजल्ट और रिकॉर्ड बनाने में होगी देरी


कक्षा 12वीं

विज्ञान एवं प्रायोगिक विषयों में 70 अंक सैद्धांतिक 30 अंक प्रायोगिक

अन्य विषयों में 80 अंक सैद्धांतिक 20 प्रोजेक्ट

प्रो वीके गोयल, सचिव, माशिमं


परीक्षा के दिन ही ऑनलाइन अंक भेजने के दिए निर्देश

माशिमं द्वारा सभी स्कूलों में प्रोजेक्ट की परीक्षाएं जनवरी माह में आयोजित करने के निर्देश दिए। साथ ही परीक्षा के दिन ही शाम को ऑनलाइन ही सभी परीक्षार्थियों के अंक ऑनलाइन अपडेट करने को कहा गया। इसके बावजूद 120 से ज्यादा स्कूलों ने इसमें लापरवाही बरतते हुए अंक नहीं भेजे हैं।

2 माह बाद माशिमं को आई याद

माशिमं ने इसी सत्र से सभी विषयों की परीक्षाएं 100 की बजाय 75 अंकों की रखने का निर्णय लिया है। वहीं, शेष 25 अंक प्रोजेक्ट के रूप में दिए जाएंगे। इसकी परीक्षा के लिए तय किए गए शेड्यूल के अनुसार जनवरी में इसकी परीक्षाएं आयोजित की गईं। जिनके अंक जनवरी के अंत तक भेजने के निर्देश दिए गए। इसके बावजूूद स्कूलों ने लापरवाही बरती है।

DB star

expose

X
Raipur News - chhattisgarh news more than 120 schools did not send students project marks to mashim

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना