हमारी भी सेहत जरूरी : डॉक्टरों के बीच नाराजगी, नहीं मिल रहे मास्क

Bastar Jagdalpur News - मेकाॅज में इंटर्न और जूनियर डॉक्टर काम करने से कतरा रहे मेडिकल कॉलेज में कोरोना संदिग्धों के इलाज करने में...

Mar 27, 2020, 06:51 AM IST

मेकाॅज में इंटर्न और जूनियर डॉक्टर काम करने से कतरा रहे

मेडिकल कॉलेज में कोरोना संदिग्धों के इलाज करने में इंटर्न और जूनियर डॉक्टरों को भारी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। ये डॉक्टर मरीजों का इलाज तो कर रहे हैं लेकिन इन्हें बचाव के पूरे साधन उपलब्ध नहीं होने से असुरक्षा की भावना के बीच मन मारकर काम रहे हैं । गुरूवार को इस तरह की शिकायतें इंटर्न और जूनियर डॉक्टरों के परिजनों ने की है।

परिजन का कहना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सीनियर डॉक्टरों को सारे साधन दिये गये हैं जबकि सीनियर डॉक्टर एक बार भी राउंड में या संदिग्ध मरीज को देखने ही नहीं आ रहे हैं। वहीं िवदेशों में कोरोना वार्ड में काम कर रहे डॉक्टरों को बॉडी सूट समेत सभी सुविधाएं दी गई है। यहां छात्रों को साधारण मास्क तक उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। आखिर इस ओर प्रशासन और सरकार क्यों नहीं सोच रही है। डॉक्टर ही बीमार पड़ गए तो लोगों का इलाज कौन करेगा।

संदिग्धों की इलाज की पूरी जिम्मेदारी इंटर्न और जूनियर डॉक्टरों के कंधों पर डाल दी गई है। आइसोलेशन वार्ड में जाने के दौरान इन्हें सुरक्षा के जरूरी संसाधन भी नहीं दिये गये हैं। गौरतलब है कि चार दिनों पहले भी इंटर्न ने यहां मास्क की मांग को लेकर काम बंद कर दिया था। इसके बाद प्रबंधन ने मास्क उपलब्ध करवाने की बात कही थी। इंटर्न डॉक्टर के परिजनों का कहना है कि काम बंद करने के बाद कपड़े के मास्क उपलब्ध करवाये गये हैं जो नाकाफी हैं। इस मामले में जब मेकाॅज के हॉस्पिटल अधीक्षक डॉ केएल आजाद से जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने फोन ही रिसीव नहीं किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना