दो महीने में 78 लाख टन धान खरीदी, 13 हजार करोड़ खर्च

News - खरीदी की मियाद 15 मार्च तक बढ़ाए- भाजपा भाजपा किसान मोंर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चन्द्राकर ने कहा कि प्रदेश...

Feb 15, 2020, 07:36 AM IST

खरीदी की मियाद 15 मार्च तक बढ़ाए- भाजपा

भाजपा किसान मोंर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चन्द्राकर ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरा धान खरीदी का एलान करके धान खरीदी से बचने के तमाम छल- प्रपंचों का जाल भी बुन रही है। कई जिलों में किसानों को टोकन जारी नहीं किए जाने की शिकायतें मिल रही है। कवर्धा, महासमुंद, धमतरी आदि जिलों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी में किसानों की दिक्कतें अभी भी खत्म नहीं हो रही हैं। इसलिए सरकार खरीदी 15 मार्च तक बढ़ाए अन्यथा मोर्चा आंदोलन करेगा।

रायपुर | छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चालू खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 के लिए की जा रही धान खरीदी 20 फरवरी के बाद से बंद हो जाएगी। बीते दो महीनों में प्रदेश में अब तक 17 लाख 61 हजार किसानों से 78 लाख 29 हजार मीट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष लगभग 2 लाख अधिक किसानों से धान बिक्री की गई। धान बेचने वाले किसानों को 13 हजार 609 करोड़ रूपए का भुगतान किया जा चुका है। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी की अंतिम तिथि बढ़ाकर 20 फरवरी कर दिया गया है। पूर्व में धान खरीदी की अवधि 15 फरवरी 2020 निर्धारित था।

खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इसमें से भारतीय खाद्य निगम ने सेंट्रल पुल में जनवरी 2020 तक 4 लाख 10 हजार मीट्रिक टन उसना चावल और राज्य नागरिक आपूर्ति निगम ने 12 लाख 78 हजार मीट्रिक टन अरवा चावल राज्य के पूल में लिया है।

विभाग का दावा

अफसरों के मुताबिक 15 नवंबर से अब तक अवैध धान परिवहन के 4 हजार 482 प्रकरण दर्ज कर 46 हजार 194 टन अवैध धान जब्त किया गया। धान परिवहन करने वाले 441 वाहनों पर भी कार्रवाई की गई हैं।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना