क्वॉरेंटाइन सेंटर, होम केयर में रह रहे संदिग्धों का कचराअलग रखना होगा, पीले रंग के बैग में ले जाएगी ट्रेंड टीम

News - हर समय तैनात रहेगी वेस्ट कलेक्शन टीम : कचरा कलेक्शन का काम करने वाली एजेंसी को टीम को हर वक्त तैनात रखना होगा। किसी...

Mar 27, 2020, 07:21 AM IST
हर समय तैनात रहेगी वेस्ट कलेक्शन टीम : कचरा कलेक्शन का काम करने वाली एजेंसी को टीम को हर वक्त तैनात रखना होगा। किसी भी वक्त कचरा कलेक्ट किया जा सके। जो लोग इस काम में लगाए गए हैं, उनके बारे में भी पूरी जानकारी रखनी होगी। जैसे कचरा डिस्पोज सेंटर तक पहुंचाने के बाद वो कहां गए, उनको अच्छी तरह सेनिटाइज किया गया है या नहीं। ये तमाम अपडेट भी देना होगा।

कोरोना संदिग्धों के हाथों से गुजरा कचरा और मेडिकल वेस्ट से पूरे शहर में संक्रमण फैला सकता है। इसलिए इनके कूड़े कचरे को अलग से जमा करने के लिए नई गाइडलाइंस जारी की गई है। जिस गाड़ी से ये कचरा ले जाया जाएगा, उस गाड़ी को भी पूरी तरह सेनिटाइज किया जाएगा। इतना ही नहीं, आम लोगों के हाथों से निकलने वाला कचरा भी पीले रंग के बैग में अलग रखा जाएगा। जो लोग इस कचरे को जमा कर डिस्पोज करने का काम करेंगे, उनको इसके लिए विशेष ट्रेनिंग भी दी जा रही है।

रायपुर समेत प्रदेश के सभी 169 नगरीय निकायों को क्वॉरेंटाइन सेंटर, होम केयर या आइसोलेशन में रह रहे लोगों के घरों से निकलने वाले वेस्ट की जानकारी शासन को भेजनी होगी। पर्यावरण संरक्षण मंडल द्वारा नियुक्त की गई स्पेशल एजेंसियों के लोग ही ये काम करेंगे। अगर ऐसे घरों की संख्या कम है तो केवल एक ही स्पेशल कचरा गाड़ी चलाई जाएगी। पूरे कचरे को कलेक्ट करने से निपटान तक बारीकी से सावधानी रखनी भी अनिवार्य होगी। कचरा कलेक्ट करने वाली टीम सिर से पैर तक विशेष प्रोटेक्शन वाले परिधान पहनेगी। बायो मेडिकल वेस्ट की ट्रेनिंग लेने वाले दक्ष लोगों की टीम महामारी के इस संकट के दौरान इस काम को अंजाम देने वाली है।

पूरी तरह पैक होगी कचरा गाड़ी एक बूंद कचरा भी सड़क पर नहीं : कचरा ले जाने वाली गाड़ी पूरी तरह पैक होगी। इसको क्वॉरेंटाइन सेंटर से या घरों से लेने आने वाले लोग विशेष तरह के परिधान पहनेंगे। सड़क पर कचरे की एक बूंद भी न गिरने पाए ये भी सुनिश्चित किया जाएगा। हर दिन कितना वेस्ट जमा किया गया इसकी रिपोर्ट पर्यावरण सरंक्षण मंडल तक भी जाएगी। हर एक ट्रिप को लगाने के बाद गाड़ी को एक प्रतिशत हाइपोक्लोराइट के घोल से सेनिटाइज किया जाएगा। ताकि संक्रमण फैला सकने वाले वायरस तुरंत वहीं मर जाएं। इसके बाद ही गाड़ी कचरा लेने शहर के दूसरे हिस्से या अलग-थलग रहने वाले सेंटर तक जा सकेगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना