मोबाइल पर आएगा प्रश्न, उसे देखकर बोर्ड पर लिखेंगे टीचर, प्रायमरी-मिडिल परीक्षा के इस फार्मूले से बवाल

News - राज्य के प्रायमरी और मिडिल स्कूलों में सोमवार से आयोजित होने जा रही राज्य स्तरीय गुणवत्ता परीक्षण परीक्षा के...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:26 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news question will come on mobile seeing it the teacher will write on the board this formula of primary middle examination creates ruckus
राज्य के प्रायमरी और मिडिल स्कूलों में सोमवार से आयोजित होने जा रही राज्य स्तरीय गुणवत्ता परीक्षण परीक्षा के पैटर्न से बवाल मच गया है। परीक्षा के 48 घंटे पहले शिक्षकों को जानकारी दी गई कि परीक्षा के एक घंटे पहले उनके मोबाइल पर प्रश्नपत्र भेजा जाएगा। उसे देखकर वे बोर्ड में लिखेंगे। उसके बाद बच्चे परीक्षा देंगे। निर्देश जारी होने के बाद आनन-फानन में टीचरों को ट्रेनिंग दी गई और निर्देश दे दिया। शिक्षक इसके विरोध में सामने आ गए हैं। राज्य शैक्षिक अनुसंधान परिषद की ओर से परीक्षा का टाइम टेबल दशहरे की छुट्‌टी के एक दिन पहले जारी किया गया। शिक्षा विभाग के जिम्मेदारों के माेबाइल पर टाइम टेबल का मैसेज दोपहर करीब 12 बजे के बाद पहुंचा, उस समय सुबह की पाली के स्कूलों में बच्चों की छुट्‌टी हो चुकी थी। दूसरी पाली के बच्चों को सूचना दी गई, लेकिन पहली पाली में पढ़ने वाले लाखों बच्चों को खबर ही नहीं थी। वे तैयारी नहीं कर सके। उन्हें 12 अक्टूबर शनिवार को बताया गया कि सोमवार को सुबह 8 से साढ़े दस बजे उनकी परीक्षा है। बच्चों को परीक्षा की तैयारी का मौका नहीं मिला। यही नहीं शिक्षकों को भी नए-नए फरमान की जानकारी शुक्रवार को स्कूल खुलने के एक दिन पहले दी गई। उन्हें बताया गया कि परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र छपवाकर नहीं दिए जाएंगे। शिक्षकों के मोबाइल पर प्रश्नपत्र भेजा जाएगा। मोबाइल में देखकर वे प्रश्नों को एक-एक कक्षा के ब्लैकबोर्ड में लिखेंगे। मोबाइल पर प्रश्नपत्र भी एक घंटे पहले भेजा जाएगा। इन्हीं दो बिंदुओं पर ज्यादा विरोध हो रहा है। ज्यादातर बच्चों ने दशहरे की छुटि्टयों में तैयारी नहीं की। दूसरे बिंदु के बारे में बताया जा रहा है कि कई शिक्षकों को आधुनिक फोन का उपयोग बेहतर तरीके से नहीं आता। मोबाइल से प्रश्नपत्र निकालकर एक-एक प्रश्न को ब्लैक बोर्ड में लिखने में खासी दिक्कत होगी। कई स्कूल दो-दो शिक्षकों के भरोसे चल रहे हैं। ऐसे में उनके लिए परीक्षा का समय शुरू होने के पहले हर कक्षा के ब्लैकबोर्ड पर प्रश्नपत्र लिखना दिक्कत भरा होगा।

संघ ने मांगा वाईफाई और हर स्कूल में टीचर : छत्तीसगढ़ तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने सिस्टम में सुधार की मांग करते हुए कहा है कि टीचरों को मोबाइल भत्ता दिया जाए। स्कूलों में नेटवर्क की समस्या आएगी ऐसे में वाईफाई उपलब्ध कराएं। शिक्षकों को गैर शिक्षकीय कार्य से पूरी तरह मुक्त करें। अभी शिक्षकों को मतगणना कार्य में लगा दिया गया है। कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष राकेश साहू, महामंत्री सुखीराम धृतलहरे, प्रकाश शुक्ला, राजेश यदु, महेश शर्मा, अनुराग श्रीवास्तव, राकेश कन्नौजे, फारुख कादरी, तिलक यादव, मुक्तेश्वर देवांगन, रामानुज पाण्डेय आदि ने प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

निखार प्रोजेक्ट के तहत परीक्षा

स्कूलों में तिमाही परीक्षा को निखार प्रोजेक्ट के तहत आयेाजित किया जा रहा है। पिछले सत्र में कुछ खास जिलों के बच्चों की परीक्षा ली गई थी, उसके नतीजे बेहद चौंकाने वाले आए थे। छठवीं-सातवीं तो दूर आठवीं के कई बच्चों की पढ़ाई का स्तर पहली-दूसरी के बच्चों की तरह था।

X
Raipur News - chhattisgarh news question will come on mobile seeing it the teacher will write on the board this formula of primary middle examination creates ruckus
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना