प्लाट लेकर 8 साल भटके स्वागत विहार के 2 हजार लोगों को राहत, 8 ले-अाउट पास और कालोनी वैध

News - प्रदेश के सबसे बड़े निजी काॅलोनी घोटाले न्यू स्वागत विहार के 2000 से ज्यादा लोगों को हाईकोर्ट के निर्देश के बाद बड़ी...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:46 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news relief for 2 thousand people of swagat vihar wandering for 8 years with plot 8 take out passes and colony valid
प्रदेश के सबसे बड़े निजी काॅलोनी घोटाले न्यू स्वागत विहार के 2000 से ज्यादा लोगों को हाईकोर्ट के निर्देश के बाद बड़ी राहत मिल गई है। इस काॅलोनी में प्लाट खरीदने और पूरा पेमेंट करने के बाद 8 साल से कब्जे के लिए भटक रहे लोगों को अब प्लाट का कब्जा मिलना शुरू हो जाएगा क्योंकि टाउन एंड कंट्री प्लानिंग ने न्यू स्वागत विहार की 168 एकड़ जमीन पर 8 ले-आउट पास कर दिए हैं। लेअाउट पास होने का अाशय यह है कि न्यू स्वागत विहार की कॉलोनी अब वैध हो गई है। काॅलोनाइजर का कहना है कि जिन लोगों की जमीन और मकान इस ले-आउट में शामिल हैं उन्हें 25 नवंबर के बाद से कब्जा देना शुरू कर दिया जाएगा। स्वागत विहार के पीड़ितों को रविवार को गोल चौक में हुई एक बड़ी बैठक में भू एवं भवन स्वामी विकास संघ न्यू स्वागत विहार के पदाधिकारियों ने इससे अवगत करवाया है।

न्यू स्वागत विहार को राजधानी में अब तक का सबसे बड़ा सरकारी जमीन घोटाला माना जा रहा था। क्योंकि शासन ने जून 2013 में न्यू स्वागत विहार के सभी ले-आउट को कैंसिल कर दिया था। इसके बाद से कॉलोनी अवैध हो गई थी। इसके बाद से ही लोग अपनी ही जमीन और मकान के मालिकाना हक से बाहर हो गए। बिल्डर स्वर्गीय संजय बाजपेयी के इस प्रोजेक्ट पर 3000 से ज्यादा लोगों ने निवेश किया था। एक झटके में इन सभी की संपत्ति विवादित हो गई। कई तरह की जांच के बाद नई रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ था कि टाउन प्लानिंग विभाग ने बिल्डर की 253 एकड़ जमीन का ले-आउट एप्रूव किया था। इसमें 211 एकड़ जमीन संजय बाजपेयी के नाम पर दर्ज थी, लेकिन जांच में मौके पर बिल्डर के नाम 208 एकड़ जमीन ही मिली थी। अब इसी 208 एकड़ में से 163 एकड़ जमीन के ले-आउट को पास किया गया है। अभी 45 एकड़ जमीन जो बिल्डर के नाम पर वो वो कागजों में उलझी हुई है। इसका विवाद खत्म होने के बाद बाकी 1000 लोगों को भी न्यू स्वागत विहार में जमीन और मकान पाने का रास्ता साफ हो जाएगा।

गोल चौक पर बैठक।

नक्शे व लोन के लिए अावेदन कर सकेंगे

गोल चौक पर रविवार को स्वागत विहार के पीड़ितों की बड़ी सभा में भू एवं भवनस्वामी विकास समिति के अध्यक्ष भूषण राठौर ने हाईकोर्ट के आदेश के आधार पर बताया कि पिछले 8 साल तक स्वागत विहार की स्थिति को शून्य घोषित किया गया था। लेकिन टाउन प्लानिंग के एप्रूवल के बाद यह कॉलोनी वैध हो गई है। अब जिन लोगों को स्वागत विहार की जमीन पर मकान बनाना है, वे नक्शा पास कराने के लिए आवेदन कर सकते हैं। फेस वन में जिनकी जमीन डूंडा में है उन्हें नक्शा पास कराने के लिए निगम मुख्यालय और फेस टू में जिनकी जमीन बोरियाकला और सेजबहार में आती है उन्हें टाउन प्लानिंग विभाग में आवेदन करना होगा। समिति के गगन सोनी ने बताया कि हाई कोर्ट में एक याचिका और दायर की जाएगी जिसमें मांग की जाएगी कि बिल्डर के नाम पर मौजूद पूरी 208 एकड़ जमीन का ले-आउट भी जल्द पास किया जाए।

कब्जा 25 तारीख के बाद से

बैठक में संजय बाजपेयी कंस्ट्रक्शन कंपनी के डायरेक्टर योगेश्वर शुक्ला ने बताया कि जिनके जमीन और मकान 8 ले-आउट में आ रहे हैं उन्हें 25 नवंबर के बाद जमीन और मकान का पजेशन देने का काम शुरू किया जाएगा। लोग अपने मकानों में रह भी सकेंगे। प्रोजेक्ट में बाकी 45 एकड़ के प्लान के नियमितिकरण के लिए प्रस्ताव 15 नवंबर तक शासन को भेज दिया जाएगा। इसके अलावा साइट में 18 मीटर की सड़क जो प्रोजेक्ट के बीचोबीच आ रही है उसे विलोपित करने का प्रस्ताव भी टाउन प्लानिंग विभाग को धारा 23(क) के तहत भेजा जा रहा है। इससे प्रोजेक्ट की सभी विसंगतियां भी दूर हो जाएंगी। इसके अलावा जिस सरकारी जमीन पर कब्जा करने की बात कही गई थी उसकी खरीदी का प्रस्ताव भी कंपनी की ओर से राज्य सरकार को भेजा जा रहा है। बैठक में पीके तिवारी, अभिषेक जैन, अमित यादव, सूर्या श्रीवास्तव, गौरी शंकर व्यास, रविंद्र भट्‌ट, रविंद्र शर्मा, रविनेश सोनी, संजीव सोनी, वसंत आदि मौजूद थे ।

शेष 45 एकड़ भी 22 तारीख के आसपास


X
Raipur News - chhattisgarh news relief for 2 thousand people of swagat vihar wandering for 8 years with plot 8 take out passes and colony valid
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना