छह बार मिस्टर छत्तीसगढ़ बन चुके हैं संदीप, इंटरनेशनल पैरा पावर लिफ्टिंग में धर्मवीर जीत चुके हैं 2 गोल्ड मेडल

News - मैं मोहबा बाजार के पास रहता हूं। बचपन में ही पोलियो के कारण बायां पैर खराब हो गया था। मां ने ही उंगली पकड़कर चलना...

Dec 03, 2019, 08:45 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
मैं मोहबा बाजार के पास रहता हूं। बचपन में ही पोलियो के कारण बायां पैर खराब हो गया था। मां ने ही उंगली पकड़कर चलना सिखाया। बड़ा हुअा ताे लाेग मुझ पर हंसते थे। मैं सबके ताने अनुसना करता। 2009 में ममता से शादी हुई और फिर बेटे खौमिश का जन्म हुअा। बेटे के जन्म के बाद अहसास हुअा कि जब मैं उसे स्कूल छोड़ने जाऊंगा तो उसके दोस्त उस पर हसेंगे। कहेंगे कि तेरा पापा विकलांग हैं। मेरी वजह से मेरा बेटा हर जगह शर्मिंदा होगा। मैंने तय किया कि मुझे उसे शर्मिंदा नहीं, बल्कि गर्व महसूस कराना है। परिचित की सलाह पर मैंने पैरा बाॅडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लेने का निर्णय लिया। 2015 में पहली बार किसी काॅम्पिटीशन में शामिल हुअा। शुरुआती दौर में न मेरे पास डाइट के लिए पैसे थे और न ही जिम की फीस के लिए। कई हार के बाद चैंपियनशिप में मैं मैडल जीतने लगा। अब तक छह बार मिस्टर छत्तीसगढ़ का टाइटल और गोल्ड मेडल जीत चुका हूं। पांच बार मिस्टर रायपुर का टाइटल जीतने में कामयाब रहा हूं। गुड़गांव में 2017 में मिस्टर इंडिया का टाइटल भी मिला। इंटरनेशनल चैंपियनशिप के लिए रशिया जाने का मौका भी मिला, लेकिन आर्थिक तंगी के कारण वहां नहीं जा सका। बेटा अब सात साल का हो चुका है। उसके दोस्त मेरा मजाक नहीं उड़ाते, बल्कि ये कहते हैं कि तेरे पापा की बॉडी तो हीरो जैसी है। अच्छी बाॅडी और सेहत के लिए रोज चार घंटे एक्सरसाइज करता हूं। डाइट में रोज 25 एग और दो लीटर दूध लेता हूं। अभी 32 साल का हूं। आगे बहुत कुछ अचीव करना चाहता हूं।

- संदीप कुमार साहू

छह साल की उम्र तक चल भी नहीं पाता था रोज 4 घंटे एक्सरसाइज से मजबूत किया शरीर

ज न्म के कुछ दिन बाद ही मुझे पोलियो हो गया। छह साल की उम्र तक बिल्कुल भी नहीं चल पाता। लेफ्ट पैर काफी कमजोर था, उसमें शक्ति ही नहीं थी। फिर एक पैर के सहारे आगे बढ़ना सीखा। लाेग मुझे अक्सर इग्नोर करते थे। खुद को साबित करने और अपनी पहचान बनाने के मकसद से 22 साल की उम्र में मैंने पावर लिफ्टिंग करने का निर्णय लिया। जी जान लगाकर एक्सरसाइज की और पैरा पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में हिस्सेदारी करने लगा। रोज 4 घंटे एक्सरसाइज करता। तब लोग कहते थे कि पावर लिफ्टिंग करनी है तो डाइट सुधारो। नॉनवेज खाना शुरू करो। ये मुमकिन नहीं था। हमारे घर में सभी वेजिटेरियन हैं। मैंने कभी अपनी डाइट चेंज नहीं की। अब तक पावर लिफ्टिंग में दो इंटरनेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड और 25 नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीत चुका हूं। अब अपने ही जैसे दूसरे लोगों को ट्रेनिंग दे रहा हूं, ताकि वो भी अपनी पहचान बना सकें।

- धर्मवीर सिंह

Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
X
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
Raipur News - chhattisgarh news sandeep has become mr chhattisgarh six times dharamvir has won 2 gold medals in international para power lifting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना