यही यूनिवर्सिटी और कोर्स क्यों? बता दिया तो अमेरिकी स्टूडेंट वीसा की राह आसान

News - यूएस में उच्च शिक्षा पाने के इच्छुक छात्रों को वीसा पाने के लिए दो-चार आसान सवालों के जवाब आने चाहिए। मसलन आपने...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 07:46 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news why this university and course if told the way for american student visa is easy
यूएस में उच्च शिक्षा पाने के इच्छुक छात्रों को वीसा पाने के लिए दो-चार आसान सवालों के जवाब आने चाहिए। मसलन आपने पढ़ाई के लिए यही यूनिवर्सिटी क्यों चुनी और यही कोर्स क्यों चुना। वहां पढ़ने के लिए खर्च कैसे निकालेंगे इसकी भी जानकारी सीधे व सरल तरीके से देने पर ही स्टूडेंट को वीसा मिलने की उम्मीद रहेगी।

शुक्रवार को रविवि में अमेरिकी काउंसुलेट, मुंबई की टीम छात्रों रूबरू हुई। टीम में शामिल विशेषज्ञाें ने अमेरिका में उच्च शिक्षा की संभावनाओं पर अलग-अलग तरह की जानकारियां दी। उन्होंने बताया अमेरिका में हायर एजुकेशन से संबंधित करीब साढ़े चार हजार शैक्षणिक संस्थान हैं। इन संस्थानों में अभी 1.96 लाख से ज्यादा भारतीय छात्र हैं। अमेरिका में पढ़ाई के लिए हर साल बड़ी संख्या में छात्र आवेदन करते हैं। संस्थान से प्रवेश की अनुमति मिलने के बाद उन्हें अमेरिकी स्टूडेंट वीसा की जरूरत पड़ती है। अक्सर वीसा के चक्कर में कई स्टूडेंट अमेरिका में पढ़ाई नहीं कर पाते। वीसा हासिल करने के लिए ही अमेरिकी काउंसुलेट, मुंबई की टीम ने महत्वपूर्ण जानकारी दी। गौरतलब है कि कुछ महीने पहले रविवि में यूके के एक्सपर्ट भी आए थे। इन्होंने यूके में उच्च शिक्षा की संभावनाओं पर महत्वपूर्ण जानकारी दी थी। यूएस में पढ़ाई के लिए कई तरह की स्कॉलरशिप की सुविधा भी है। इसमें अमेरिकी सरकार की स्कॉलरशिप के अलावा भारतीय स्कॉलरशिप भी है। अमेरिका में पढ़ाई के लिए एडमिशन की प्रक्रिया दिसंबर से शुरू होती है।

वीसा की कठिनाईंया दूर करने में मिलेगी मदद : रविवि रसायन अध्ययनशाला के अध्यक्ष प्रोफेसर शम्स परवेज का कहना है कि यूएस काउंसुलेट मुंबई की टीम ने छात्रों को वीसा मिलने में होने वाली कठिनाईयों की जानकारी दी। साथ ही दूर करने के फार्मूले बताए। इससे छात्रों को मदद मिलेगी। टीम ने अमेरिका में उच्च शिक्षा की संभावनाओं पर छात्रों से चर्चा की।

यूएस में पढ़ाई का खर्च सालाना 21 लाख से ज्यादा

अमेरिका की पढ़ाई महंगी है। वहां हायर एजुकेशन के लिए साल में कम से कम 30 हजार डॉलर यानी करीब 21 लाख रुपए से अधिक सालाना खर्च करने पड़ते हैं। अमेरिकी संस्थानों में ट्यूशन फीस 12 हजार डॉलर से लेकर 57 हजार डॉलर है। पढ़ाई के दौरान वहां रहने का खर्च करीब 12 हजार डॉलर होता है। हेल्थ इंश्योरेंस 2 हजार डॉलर का खर्च है। इसके अलावा किताब-कापियों का खर्च 3 हजार डॉलर और घर के लिए साढ़े चार हजार डॉलर का सलाना खर्च है। इस लिहाज से यदि सबसे कम ट्यूशन फीस वाले संस्थान का चयन भी किया जाता है और खर्च में कुछ कटौती भी की जाती है तो भी कम से कम 30 हजार डॉलर सलाना खर्च आएगा।

Raipur News - chhattisgarh news why this university and course if told the way for american student visa is easy
X
Raipur News - chhattisgarh news why this university and course if told the way for american student visa is easy
Raipur News - chhattisgarh news why this university and course if told the way for american student visa is easy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना