--Advertisement--

परवरिश के दौरान सिखाई ये बातें बच्चों को रखेंगी सेफ

माता-पिता का हर समय बच्चों के साथ रह पाना मुमकिन नहीं हो पाता, ऐसे में उन्हे कई तरह की घटनाओं का डर लगा रहता है।

Danik Bhaskar | Jun 28, 2018, 06:54 PM IST
बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए

यूटिलिटी डेस्क. माता-पिता का हर समय बच्चों के साथ रह पाना कई बार मुमकिन नहीं हो पाता, ऐसे बच्चों कई तरह की घटनाओं की संभावना बढ़ जाती है। इस तरह की घटनाओं से बच्चों को बचाने के लिए जरूरी है कि परवरिश के दौरान उन्हें कुछ जरूरी बातें सिखानी होंगी जो उन्हें घर और बाहर दोनों ही जगह सेफ रखेंगीं। आइए जानते हैं इन बातों के बारे...


गुड टच और बैड टच समझाएं

  • छोटे बच्चों को इस बात की कोई समझ नही होती कि कौन उनको अच्छी नियत से छू रहा है औश्र कौन बुरी नियत से। इसे समझाने के लिए बच्चे को गुड टच और बैड टच का अंतर समझाएं।
  • उन्हें समझाएं की अगर कोई उन्हे गलत जगह टच करता है तो इसका विरोध करें और घर वालों को इसके बारे में बताएं।

अंजान से न लें खाने का सामान

  • खाने को सामान बच्चों को बहुत पसंद होता है ऐसे में कुछ लोग उनको इसका लालच देकर उन्हे अपने जाल में फंसा लेते हैं।
  • इस सिचुएशन से बचाने के लिए बच्चों को सिखाएं कि वो किसी अंजान व्यक्ति चाहे वो आदमी हो या औरत उससे खाने का सामान न लें।

हर किसी के साथ गाड़ी पर न बैठें

  • कई बार घर से बाहर बच्चे को अकेला देखकर लोग उन्हे गाड़ी पर घुमाने के बहाने उन्हें अपने साथ ले जाते हैं जो खतरनाक हो सकता है।
  • ऐसी स्थिति से बचने के लिए बच्चे को ना कहना सिखाएं ताकि वो सेफ रह सकें।

विरोध करना सिखांए

  • अपने बच्चों को यह सिखाना बहुत जरूरी है कि जब उनके साथ कोई गलत हरकत करने की कोशिश करे तब वे क्या करें।
  • बच्चों को उनकी उम्र के हिसाब से विरोध करने का तरीका बताएं जैसे चिल्लाकर मदद बुलाना, भागकर सेफ जगह जाना या फोन करके मदद बुलाना आदि।

बातें सांझा करना

  • बच्चों को समझने के लिए आपको उनका दोस्त बनना होगा। बच्चों को सिखाएं की वो आपसे कोई भी बात न छुपाएं और हर बारे में आपसे खुलकर बता करें।
  • ऐसे में ही आप उनकी समस्या को समझकर उसकी मदद कर सकेंगे। इससे उनका आप पर भरोसा भी बढ़ेगा।