बच्चों के जुलूस-ए-मोहम्मद में गूंजा नारा...नबी का झंडा, अमन का झंडा

News - कल्चरल रिपोर्टर | रांची रंग-बिरंगे लिबास में चहकते बच्चे, जज्बे से लबरेज नौजवान और एहतराम की बानगी पेश करते...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:21 AM IST
Ranchi News - children39s procession e mohammed slogan echoed prophet39s flag aman39s flag
कल्चरल रिपोर्टर | रांची

रंग-बिरंगे लिबास में चहकते बच्चे, जज्बे से लबरेज नौजवान और एहतराम की बानगी पेश करते बुजुर्ग। बात ईद मिलाद-उन-नबी के मौके पर रविवार को हिंदपीढ़ी और हिंदपीढ़ी में कहीं-कहीं निकले जुलूस-ए-मोहम्मदी की है। जिसकी फिजा में पैगंबर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद (स.) की बरकतों और रहमतों का उजाला रहा। मुस्लिम भाइयों के चेहरे अपने आका की रौनक से गुलजार रहे। ‘नबी का झंडा, अमन का झंडा’ जैसे गूंजते कलाम के बीच लहराते इस्लामी परचम। नन्हे-मुन्ने बच्चे के नारे बच्चा-बच्चा फूल-फूल, या रसूल-या रसूल मौसम में ऊर्जा भरते रहे। हिंदपीढ़ी में फैजान रजा तहरीक के बैनर तले जुलूस निकला। दरअसल शहर में अमनो-अमां कायम रहे, भीड़ का लाभ कहीं असामाजिक तत्व न उठा लें, इस आशंका के कारण ईद मिलादुन्नबी के दिन रांची की प्रमुख सड़कों पर निकलने वाला जुलूस-ए-मोहम्मद नहीं निकाला गया। इसका निर्णय जुलूस की अुगवा करने वाली सुन्नी बरेलवी सेंट्रल कमेटी ने लिया था। लेकिन अकीदतमंदों ने नियाज-फातिहा और दरूदो-सलाम के साथ जश्न ईद मिलादुन्नबी मनाया। अपने-अपने मोहल्ले को युवाओं ने रंगी झंडियों और झंडे से सजाया था। कहीं-कहीं स्वागत द्वार भी बने थे। इधर, हजरत रिसालदार बाबा दरगाह कमेटी की ओर से जायरीन के बीच खजूर, चना और कॉफी बांटा गया।

कहीं निकली टोली, ताे कहीं हुए जलसे

हिंदपीढ़ी से जुलूस-ए-मोहम्मदी निकालते छोटे-छोटे बच्चे।

मौलाना ताबे आलम शैदा ने नात की महफिल सजाई

मरकजी सीरत कमेटी डोरंडा की ओर से हुए 85वें जलसा में काफी लोग उमड़े। इसमें मौलाना सैफुल्लाह अलीमी कोलकाता ने कहा कि नबी दुनिया के लिए रहमत बनकर आए। माैलाना इकबाल अहमद मिस्बाही ने कहा कि इस्लाम तलवार की जोर पर नहीं बल्कि इखलाक की बुनियाद पर फैला है। मौलाना ताबे आलम शैदा ने नात की महफिल सजाई। जलसा की अध्यक्षता हजरत सैयद शाह अलकमा शिबली ने की और संचालन कारी ओवेस रजा और मौलाना कमरुद्दीन ने किया। योगदान अध्यक्ष अशरफ अंसारी, उपाध्यक्ष नसिमुल हक़ सरफ़राज़, मो. तैयब, सचिव मौलाना मनिरुद्दीन, मुमताज गद्दी, अलाउद्दीन, परवेज आदि का रहा।

डोरंडा के खानकाह मुनअमिया में हुई मिलाद

ईद मिलादुन्नबी के मौके पर खानकाह मजहरिया मुनअमिया, मनिटोला फिरदौस नगर डोरंडा में मिलाद हुई। जिसमें सज्जादा नशीं मौलना सैयद शाह अलकमा शिबली ने हुज़ूरे पाक सल्ललाहो अलैहे वस्सलम की जिंदगी के बारे में लोगो को बताया। उनके बताए नेक काम और नेक राह पर चलने की हिदायद दी।

Ranchi News - children39s procession e mohammed slogan echoed prophet39s flag aman39s flag
X
Ranchi News - children39s procession e mohammed slogan echoed prophet39s flag aman39s flag
Ranchi News - children39s procession e mohammed slogan echoed prophet39s flag aman39s flag
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना