--Advertisement--

चुगलखोर दिलः रिश्ते-नाते, प्यार, पाखंड और नियति बयां करती कहानियां

वॉल्तेयर, चेखव, एड्गर ऐलन पो, एमिल ज़ोला, वॉरटन, ज्वाइग, हेमिंग्वे और प्रेमचंद सहित कई लेखकों की कहानियों का संकलन है।

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 12:57 PM IST
Chugalkhor Dil Evam Anya Kahaniya-Book Review

शीर्षक पढ़कर ये मत समझिएगा कि इससे गुलज़ार भी जुड़े हैं। नहीं. उनका इस संग्रह से कोसों दूर तक नाता नहीं। ये दुनिया के श्रेष्ठ 14 लेखकों की अमर कहानियों का संग्रह है, जो किताबों के किसी भी निजी संग्रह को पूर्ण बनाता है। वॉल्तेयर, चेखव, एड्गर ऐलन पो, एमिल ज़ोला, वॉरटन, ज्वाइग, हेमिंग्वे और प्रेमचंद सहित कई लेखकों की श्रेष्ठ कृतियों को एक धागे में पिरोया गया है।

देश के बड़े ट्रांसलेशन हाउस मंजुल पब्लिकेशन ने 10 देशों की सात भाषाओं में लिखी 14 कहानियों का यह संकलन प्रस्तुत किया है। संकलन मदन सोनी का है, जो खुद भी उम्दा ट्रांसलेटर हैं। कला, साहित्य और भाषा में गहरा दखल रखते हैं। एस, हुसैन जैदी की ‘डोंगरी टू दुबई’ और ‘बायकला टू बैंकॉक’ का अनुवाद करके इन दिनों चर्चा में हैं।

संकलन में लेखक और उनकी कृतियां

वॉल्तेयर (फ्रांस) की ‘जानू और कोलां’, एड्गर ऐलन पो (अमेरिका) की ‘चुगलखोर दिल’, एमिल जोला (फ्रांस) की ‘दोबे की युवती’, गी दा मोपासौं (फ्रांस) की ‘एक पत्नी की स्वीकारोक्ति’, क्नुत हाम्सुन (नॉर्वे) की क्रिसमस पार्टी, अंतोन चेखव (रूस) की ‘पार्टी’, इडिथ वॉरटन (अमेरिका) की ‘क्षय’, लुईजी पिरंडेल्लो (इटली) की ‘फूलों का हार’, टॉमस मान (जर्मनी) की ‘स्थानांतरित सिर’, स्टीफन ज्वाइग (ऑस्ट्रिया) की ‘अध्यापिका’, जेम्स जॉइस (आयरलैंड) की ‘बोर्डिंग हाउस’, फ्रांत्ज काफ़्का (प्राग, चेक रिपब्लिक) की ‘विधि के समक्ष’, अर्नेस्ट हेमिंग्वे (अमेरिका) की ‘सफेद हाथियों जैसी पहाड़ियां’ और सबसे अंत में प्रेमचंद की ‘बड़े भाई साहब।’

अंत में प्रेमचंद, क्यों?
दुनिया के बेहतरीन लेखकों की श्रेष्ठ कहानियों के इस संग्रह से एक शिकायत भी है। संकलन की आखिरी कहानी हिंदी कहानी के मजबूत और कालजयी हस्ताक्षर प्रेमचंद की है। भारतीय पाठक को दुख होगा ये देखकर, कि दो भाग में लिखी इस बेहद उम्दा कहानी को संकलन को अंत करने की जिम्मेदारी दी गई। बेहतर होता इसे पहली कहानी बनाया जाता। यूं भी, संकलन की कई अच्छी कहानियों को यह सीधा टक्कर देती है।

क्यों पढ़ें

दुनिया के नामी कहानीकारों को पढ़ते हों और किताबों का कलेक्शन करने के शौकीन हों, तो यह किताब जरूर पढ़ें। खरीद कर कलेक्शन में रखें भी। इस संग्रह में आपको जीवन की तमाम स्थितियों, इंसानी रिश्तों और भावनाओं की अनेक रंगत के साथ प्यार, अवसाद, ऊब, आत्म-बलिदान, करुणा, अपराध बोध, पाखंड, छल-प्रपंच, कुटिलता और व्यथित इंसानी जीवन को बयां करती कई कहानियां मिलेंगी।

क्यों न पढ़ें

विदेशी कहानीकारों की कृतियों से लगाव न हो, तो साधारण-सी सलाह है- मत पढ़िए।

चुगलखोर दिल और अन्य कहानियां

अनुवाद व संकलन-मदन सोनी
मंजुल पब्लिशिंग हाउस
पृष्ठ 255
कीमत-199 रुपए मात्र
सभी बुक स्टोर्स और अमेज़न पर उपलब्ध

X
Chugalkhor Dil Evam Anya Kahaniya-Book Review
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..