Hindi News »Abhivyakti »Editorial» Clear Majority Trend Analysis Under Bhaskar Mahabharat 2019

महाभारत 2019: 4 साल में 18 राज्यों में पार्टियों को स्पष्ट बहुमत मिला, 8 बार भाजपा काे मिली कामयाबी

मतदाताओं ने खंडित जनादेश की जगह स्पष्ट बहुमत वाली सरकारों पर भरोसा जताया है।

Bhaskar News | Last Modified - May 29, 2018, 08:08 AM IST

  • महाभारत 2019: 4 साल में 18 राज्यों में पार्टियों को स्पष्ट बहुमत मिला, 8 बार भाजपा काे मिली कामयाबी
    +1और स्लाइड देखें

    नई दिल्ली. 2014 के आम चुनाव के बाद से विधानसभा चुनावों में एक रोचक ट्रेंड देखने को मिला है। इस दौरान मतदाताओं ने खंडित जनादेश की जगह स्पष्ट बहुमत वाली सरकारों पर भरोसा जताया है। तब से अब तक 27 राज्यों में चुनाव हुए हैं। इनमें वे 5 राज्य भी शामिल हैं, जहां लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव भी हुए थे। 2014 से अब तक हुए विधानसभा चुनावों में देश में गैर-भाजपा दलों को अधिक राज्यों में स्पष्ट बहुमत मिला है। इन चार वर्षों में भाजपा काे आठ यानी अन्य के मुकाबले दो राज्यों में कम स्पष्ट बहुमत मिला है।

    अरुणाचल प्रदेश में ऐसे सत्ता में आई भाजपा

    - राज्य में 2014 में चुनाव हुए। इनमें कांग्रेस 60 में से 42 सीट के साथ स्पष्ट बहुमत लाई। 2016 में कांग्रेस के 30 विधायकों ने अलग पार्टी बना ली। ये इसी साल जुलाई में फिर कांग्रेस में लौटे और पेमा खांडू मुख्यमंत्री बने। 16 सितंबर को मुख्यमंत्री समेत 43 विधायकों ने फिर अलग पार्टी बना ली और बाद में ये सभी भाजपा में शामिल हो गए। पेमा खांडू अब भाजपा के मुख्यमंत्री हैं।

    2016 में 5 राज्यों में चुनाव, सभी में अलग पार्टी की सरकारें बनीं

    - 2016 इस मायने में खास रहा कि जिन 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए, उनके नतीजे इसके पहले के 2 साल में हुए चुनावों से बिल्कुल अलग रहे। पांचों राज्यों में अलग-अलग पार्टियों की सरकारें बनीं। इनमें असम में भाजपा, बंगाल में तृणमूल कांग्रेस, तमिलनाडु में एआईएडीएमके, केरल में एलडीएफ और पुड्‌डुचेरी में कांग्रेस शामिल है। हालांकि, केरल में कांग्रेस गठबंधन सरकार में शामिल है।

    पूर्वोत्तर के 8 में 7 राज्यों में भाजपा, 3 में गठबंधन के साथ

    - असम में मई 2016 में विधानसभा चुनाव हुए, यहां भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी। यह पूर्वोत्तर में भाजपा की पहली सरकार थी। अब मिजोरम (कांग्रेस) को छोड़कर पूर्वोत्तर के 8 में से 7 राज्यों में भाजपा सत्ता में है। असम, त्रिपुरा, अरुणाचल और मणिपुर में भाजपा के जबकि अन्य 3 राज्यों-नगालैंड, सिक्किम और मेघालय में सहयोगी दलों के मुख्यमंत्री हैं।

    मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद 22 राज्यों में हुए चुनाव

    - 12 राज्यों में भाजपा के मुख्यमंत्री हैं, जबकि 9 राज्यों में वह गठबंधन सरकार में शामिल है। 2 राज्यों- जम्मू कश्मीर, बिहार में उपमुख्यमंत्री भाजपा के हैं।

    - 22 राज्यों में हुए चुनाव नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद।

    - 21 राज्यों में अभी भाजपा या उसके सहयोगियों की सरकारें हैं।

    - 18 राज्यों में सत्ता में आई भाजपा मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद। इनमें गठबंधन भी।

  • महाभारत 2019: 4 साल में 18 राज्यों में पार्टियों को स्पष्ट बहुमत मिला, 8 बार भाजपा काे मिली कामयाबी
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Editorial

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×