पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • फिल्म 'कॉकटेल' की समीक्षा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिल्म 'कॉकटेल' की समीक्षा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एक लंबे अरसे के बाद हिंदी फिल्मों में परिवर्तन का जबरदस्त दौर चल रहा है. जहां जिंदगी के कुछ चुनिंदा अंश कहानी में पिरोए जाते हैं और पूरी फिल्म एक चरित्र की जिंदगी का हिस्सा दर्शाती है. पर इसमें क्या कोई नवीनता है.

होमी अदजानिया ने छह साल पहले अनोखे अंदाज़ वाली एक हॉरर और रोमांच से भरी फिल्म बीइंग सायरस का निर्देशन किया था. अब उन्होंने बॉक्स ऑफिस को ध्यान में रखकर बनाई है कॉकटेल.

जहां बीइंग सायरस उन्होंने दिल से बनाई थी, वहीं कॉकटेल दिमाग से बनाई है. लेकिन मुझे इस बात से उनसे शिकायत भी नहीं है, आखिरकार फिल्म बनाना एक व्यापार है और हर एक को हक़ है पैसे कमाने का.

फॉर्मूला और समझौते के मध्यमार्ग

पर इस फिल्म को देखकर लगा कि कहीं ना कहीं वो एक नई कहानी की खोज के साथ साथ फॉर्मूला और समझौते के मध्यमार्ग से गुज़रते नज़र आते हैं. और दर्शक नयेपन की तलाश में एक और शुक्रवार का इंतज़ार करने पर मजबूर हो जाता है.

फिल्म की कहानी लंदन पर आधारित है जिसमें तीन मुख्य पात्र हैं - गौतम (सैफ अली खान), वेरोनिका (दीपिका पादुकोण) और मीरा (डायना पेंटी).

वेरोनिका और डायना का स्वभाव बिलकुल विपरीत है. जहां वेरोनिका खुले विचारों वाली लड़की है, वहीं मीरा पूरी तरह से परंपरावादी लड़की है.

मीरा की शादी लंदन में रहने वाले नकुल (रणदीप हुडा) से हो जाती है और जब वो उससे मिलने लंदन आती है, तो नकुल उससे कह देता है कि वो उसे पसंद नहीं करता.

गौतम, वेरोनिका और मीरा मिलते हैं और आपस में बहुत अच्छे दोस्त बन जाते हैं और एक ही छत के नीचे रहने लगते हैं. उनकी ज़िंदगी मौज मस्ती में बीतने लगती है.

जहां वेरोनिका, गौतम को चाहने लगती है वहीं मीरा उसे 'फालतू' समझती है. लेकिन गौतम की मां (डिंपल कपाड़िया) गौतम की शादी कराने अचानक लंदन आ पहुंचती हैं और गौतम, वेरोनिका के बजाय उन्हें घरेलू दिखनेवाली मीरा को अपनी मंगेतर के रूप में मिलाता है.

डायना पेंटी की ये पहली हिंदी फिल्म है.

तीनों दोस्त इस नाटक में शामिल हो जाते हैं और सब कुछ ठीक ठाक चलने लगता है कि अचानक मीरा और गौतम को एक दूसरे से सच में प्यार हो जाता है. सवाल ये उठता है कि क्या इस तरह की कहानी हम पहली बार देख रहे हैं. हॉलीवुड में ऐसी रोमकॉम फिल्मों का भंडार है.

फिल्म के पहले हिस्से में कुछ सीन वाकई दिलचस्प बन पड़े हैं. तीनों कलाकारों की केमेस्ट्री भी अच्छी है. और संवाद भी अच्छे हैं.

पर सैफ पर अब उम्र हावी होने लगी है. इस तरह के रोल वो कई बार कर भी चुके हैं, जैसे हम-तुम, दिल चाहता है, लव आज कल, सलाम नमस्ते वगैरह. इसलिए उनके लिए ये फिल्म करना कोई चुनौती नहीं थी.

दीपिका, लंदन की रहने वाली एक बिंदास लड़की के रोल में जमी हैं लेकिन अचानक उनके किरदार में भारतीयता आ जाती है जो थोड़ा अटपटा लगता है.

नई अभिनेत्री डायना पेंटी कहीं-कहीं काफी स्टिफ लगी हैं, पर ये उनके व्यक्तित्व के साथ जंचता है. वो एक नाजुक, डरी सहमी सी दिखने वाली भूमिका में जमी हैं.

फिल्म देखकर आपको ये जरूर लगेगा कि डिंपल कपाड़िया और ज़्यादा फिल्मों में क्यों नहीं दिखतीं. उनके, दीपिका और डायना के साथ वाले कई सीन हास्य पैदा करते हैं.

फिल्म में प्रीतम का ऐसा संगीत है जो नौजवानों को पसंद आएगा. लेकिन फिल्म का एक गीत ' जुगनी', एक पाकिस्तानी गाने से प्रभावित लगता है.

कुल मिलाकर कॉकटेल एक टाइमपास किस्म की फिल्म है. कुछ नयापन देखना चाहते हैं तो फिलहाल घर पर ही रहिए.

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें