--Advertisement--

कोकोनट शुगर : केमिकल-फ्री शुगर जो विटामिंस और मिनिरल्स से है भरपूर, ​मधुमेह रोगी शामिल कर सकते हैं डाइट में

यह प्राकृतिक शक्कर है, जो नारियल के पेड़ से मिलती है। पेड़ से लगातार निकलने वाले एक फ्लूइड बनती है।

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 05:45 PM IST
इसका ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम है और पोषक तत्व इसमें अधिक पाए जाते हैं। इसका ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम है और पोषक तत्व इसमें अधिक पाए जाते हैं।

हेल्थ डेस्क. कोकोनट शुगर शायद ही कभी सुना हो, लेकिन यह बहुत फायदेमंद है और शक्कर का सेहतमंद विकल्प है। यह शुगर नारियल के पेड़ से प्राप्त की जाती है। पिछले कुछ समय से यह लोकप्रिय होती जा रही है। इसका ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम है और पोषक तत्व इसमें अधिक पाए जाते हैं। ऐसे में इसे डायबिटीज के पेशेंट्स भी ले सकते हैं।


कैसे बनती है?
यह प्राकृतिक शक्कर है, जो नारियल के पेड़ से मिलती है। पेड़ से लगातार निकलने वाले एक फ्लूइड बनती है। यह दो चरणों में बनाई जाती है।
1. कोकोनट पाम (डंठल) के कट लगाकर इसे निकाला जाता है और एक बर्तन में इसे एकत्र कर लिया जाता है।
2. पेड़ के डंठल को निकालकर इसे तपाया जाए, इसमें से जितना पानी निकल सकता है, निकल जाने दिया जाए। इन दोनों प्रक्रियाओं के अंत में जो मिलेगा, वह भूरे रंग का दानेदार प्रोडक्ट होगा। ठीक खांडसारी के समान, जो कोकोनट शुगर है।

सामान्य शक्कर से बेहतर क्यों

  • सामान्य शक्कर में फ्रक्टोज अधिक मात्रा में होता है। इससे कोई पोषण नहीं होता है। जबकि कोकोनट शुगर में आयरन, जिंक, पोटैशियम, कैल्शियम यानी पर्याप्त मिनरल्स होते हैं।
  • इसमें फैटी एसिड्स जैसे पोलिफेनॉल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं।
  • इसमें कुछ फाइबर भी होते हैं, जैसे इनुलिन, जो ग्लूकोज़ को धीमी गति से शरीर में समाहित होने देता है। इसमें कैलोरीज़ पर्याप्त होती है।
  • यह पूरी तरह आॅर्गेनिक है यानी इसमें ऐसा कोई भी केमिकल नहीं पाया जाता है जो शरीर को नुकसान पहुंचाए।
  • इसमें 16 तरह के अमीनो एसिड्स पाए जाते हैं ये प्रोटीन बनाते हैं जो क्षतिग्रस्त मांसपेशियों, और ऊतकों को रिपेयर करने का काम करता है।
यह शुगर नारियल के पेड़ से प्राप्त की जाती है। पिछले कुछ समय से यह लोकप्रिय होती जा रही है। यह शुगर नारियल के पेड़ से प्राप्त की जाती है। पिछले कुछ समय से यह लोकप्रिय होती जा रही है।
X
इसका ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम है और पोषक तत्व इसमें अधिक पाए जाते हैं।इसका ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम है और पोषक तत्व इसमें अधिक पाए जाते हैं।
यह शुगर नारियल के पेड़ से प्राप्त की जाती है। पिछले कुछ समय से यह लोकप्रिय होती जा रही है।यह शुगर नारियल के पेड़ से प्राप्त की जाती है। पिछले कुछ समय से यह लोकप्रिय होती जा रही है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..