Hindi News »Business» Companies Face Worst Talent Crunch India Among Most Affected Nations

दुनिया की 45% कंपनियों को नहीं मिल रहे प्रतिभाशाली कर्मचारी, भारत में 56% संस्थाएं प्रभावित

12 साल में यह टैलेंट का सबसे बड़ा संकट है। 2006 में यह दर 40% थी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 26, 2018, 03:17 PM IST

  • दुनिया की 45% कंपनियों को नहीं मिल रहे प्रतिभाशाली कर्मचारी, भारत में 56% संस्थाएं प्रभावित
    +2और स्लाइड देखें
    टैलेंट शॉर्टेज सर्वे में 43 देशों की 40 हजार कंपनियों को शामिल किया गया। -सिंबॉलिक

    - 250 से ज्यादा कर्मचारियों वाली दुनिया की 67% संस्थाओं में टैलेंट की कमी
    - जापान में सबसे ज्यादा 89% कंपनियों को मुश्किल

    नई दिल्ली. दुनियाभर की 45 फीसदी कंपनियां प्रतिभाशाली कर्मचारियों की कमी से जूझ रही हैं। 12 साल में ये सबसे ज्यादा है। इससे पहले 2006 में ये दर 40 फीसदी थी। भारत 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में शामिल है। यहां 56 फीसदी नियोक्ताओं को खाली पद भरने में परेशानी हो रही है। मैनपावर ग्रुप की ओर से टैलेंट शॉर्टेज सर्वे 2018 जारी किया गया है जिसमें 40 हजार संस्थाओं को शामिल किया गया।

    जापान के 89% नियोक्ताओं ने कहा कि उन्हें खाली पद भरने में दिक्कतें हो रही हैं। जापान के बाद रोमानिया (81%) और ताइवान (78%) सबसे ज्यादा प्रभावित देश हैं। सर्वे के मुताबिक तकनीकी और व्यावहारिक क्षमताओं वाले सक्षम कर्मचारी तलाशने में कंपनियों को ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वे में शामिल 50% से ज्यादा नियोक्ताओं ने कहा कि कर्मचारियों की भर्ती करते समय वो कम्युनिकेशन स्किल पर सबसे ज्यादा ध्यान देते हैं। इसके बाद सहयोग और समस्या समाधान की क्षमताओं को परखा जाता है।

    सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देशों में 5 एशियाई

    देशटैलेंट की कमी से जूझ रही संस्थाएं
    जापान (एशिया)89%
    रोमानिया81%
    ताइवान (एशिया)78%
    हॉन्गकॉन्ग (एशिया)76%
    बुल्गारिया68%
    टर्की66%
    ग्रीस61%
    सिंगापुर (एशिया)56%
    भारत (एशिया)56%
    स्लोवाकिया54%

    चीन सबसे कम प्रभावित

    देशटैलेंट की कमी से जूझ रही संस्थाएं
    चीन13%
    आयरलैंड18%
    यूके19%
    नीदरलैंड24%
    स्पेन24%

  • दुनिया की 45% कंपनियों को नहीं मिल रहे प्रतिभाशाली कर्मचारी, भारत में 56% संस्थाएं प्रभावित
    +2और स्लाइड देखें
    टैलेंट की कमी से निपटने के लिए 2017-18 में 54% कंपनियों ने स्पेशल ट्रेनिंग करवाई। -सिंबॉलिक
  • दुनिया की 45% कंपनियों को नहीं मिल रहे प्रतिभाशाली कर्मचारी, भारत में 56% संस्थाएं प्रभावित
    +2और स्लाइड देखें
    12 साल के दौरान 2009 में टैलेंट शॉर्टेज सबसे कम 30% दर्ज किया गया। -सिंबॉलिक
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×