एप पर टूटे झूले की शिकायत, 2 साल बाद जवाब आया आेके, लेकिन काम कुछ नहीं

Mohali Bhaskar News - फेज-7 की पारस ज्वैलर्स मार्केट ब्लॉक के पीछे की पार्किंग में निगम की ओर से जो 155 वेंडर्स के लिए वेडिंग जोन बनाने की...

Jan 24, 2020, 07:31 AM IST
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
फेज-7 की पारस ज्वैलर्स मार्केट ब्लॉक के पीछे की पार्किंग में निगम की ओर से जो 155 वेंडर्स के लिए वेडिंग जोन बनाने की तैयारी की गई थी वो पूरी तरह से फिलहाल ठंडे बस्ते में डाल दी गई है। बैठक के दौरान निगम कमिश्नर कमल कुमार ने फेज-7 के इस मार्केट से संबंधित व्यापरियों को मीटिंग में बुलाकर उनसे विचार विमर्श किया। मीटिंग में पहुंचे फेज-7 मार्केट के अध्यक्ष एवं व्यापार मंडल के महासचिव सरबजीत सिंह पारस ने साफ कर दिया कि मार्केट में किसी प्रकार का वेडिंग जोन बनाया जाना ठीक नहीं है। पहले ही पार्किंग की समस्या ज्यादा है।

वेडिंग जोन बनने से पार्किंग समस्या बढ़ जाएगी। साथ ही गमाडा के ले-आउट प्लान के साथ यह छेड़छाड़ होगी। बैठक के दौरान वेडिंग जोन का प्लान भी उन्हें दिखाया गया। लेकिन किसी ने इसपर हामी नहीं भरी। बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि ले-आउट प्लान को लेकर गमाडा से सलाह ली जाए और वेडिंग जोन बनाने के लिए अगर एनओसी की जरूरत है तो वो भी प्राप्त की जाए। बैठक के दौरान इस एरिया से संबंधित पार्षद परमजीत सिंह काहलो भी बैठक में पहुंचे और उन्होंने मार्केट के पीछे वेडिंग जोन बनाए जाने को लेकर रिहायशी एरिया के लिए खतरा बताया। इस बस के बीच फिलहाल वेडिंग जोन बनाने के मामले पर रोक लग गई है। सभी से विचार-विमर्श कर अगली कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में पार्षद एवं कमेटी सदस्य कुलजीत सिंह बेदी, आरपी शर्मा, अकविंदर गौसल, अश्वनी संभालकी, अतुल शर्मा आदी सहित रेहड़ी-फड़ी के नुमाइंदे भी मौजूद थे।

खुला एरिया है, इसलिए बीचों-बीच बनाए सकते हैं वेडिंग जोन: बैठक के दौरान सर्वे करने वाले कंपनी की अोर से निगम कमिशनर को बताया गया कि फेज-7 की पारस ज्यूलर्ज मार्केट के पीछे की पार्किंग तथा रिहायशी एरिया के बीच जो खाली जगह है, वहां पर सेंटर में वेडिंग जोन बन सकता है। एक वेंडर के पीछे दो वेंडर्स की लंबी लाइन बनेगी। जो एक के पछे दूसरा वेंडर होगा। यह वेंडर लोहे के शैड में बैठेंगे। इसके लिए क्या फीस होगी इसका निर्धार किया जाएगा। जिससे पूरे पार्किंग एरिया में दूर तक लंबी लाइन वेंडर्स की दिखाई देगी। इसका एक मॉडल भी दिखाया गया।

रिहायशी एरिया की प्राइवेसी पर फर्क पड़ेगा : शहर की सभी मार्केट्स के आगे पार्किंग व्यवस्था है और कई मार्केट्स ब्लॉक के पिछले भी पार्किंग व्यवस्था है। मार्केट्स के पिछले जहां पार्किंग है या नहीं है, वहां पर रिहायशी एरिया को जाने-आने के लिए रास्ता छोड़ा गया है। जब कहीं भी मार्केट के पिछले का एरिया से छेड़छाड़ की जाती है या वहां पर कोई मार्केट बनाई जाती है तो उसका सिधा असर साथ के रिहायशी एरिया पर पड़ेगा। वहां आने वाले लोगों की गाड़ियां रिहायशी एरिया को जाने वाले मार्ग को प्रभावित करेंगी और लोगों की प्राइवेसी खराब होगी।

अकाली पार्षद परमजीत सिंह काहलो ने बैठक के दौरान यह बातें उठाई और कहा कि किसी प्रकार की नई समस्या को ना खड़ा किया जाए। शहर से पहले सही बड़ी मुश्किल से गमाडा ने रेहड़ी मार्केट्स को निकाल कर बूथ मार्केट में तब्दील किया है।

डिजिटल इंडिया : नगर निगम की ओर से लोगों को अपने एरिया की समस्याओं की शिकायत फोटो सहित सीटीजन रिपोर्टिंग एंड मेपिंग टूल (क्रेमेट) एप पर करने की सुविधा दी है

मार्केट की पार्किंग में वेंडिंग जोन बनाने पर फिलहाल लगाई रोक

2018...

टूटे रेन शेल्टर और टूटे फुटपाथ की शिकायत पर नहीं हुआ काम...टूटे रेन शेल्टर तथा टूटे फुटपाथ को लेकर क्रेमेट एप पर शिकायत की थी। कई बार निगम के अधिकारियों को मिलकर भी इसके बारे में कहा गया, लेकिन दो साल बीत जाने के बाद भी कोई काम नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि 22 जनवरी 2020 को उन्होंने जिस क्रेमेट एप पर शिकायत की थी उस पर ही उन्हें जवाब आया कि उनकी शिकायत जिस समस्या से संबंधित थी उसे ठीक करने के लिए नगर निगम एक्सईएन मुकेश गर्ग को यह काम सौंप गया था, लेकिन यहां हालात वैसे के वैसे ही हैं।

2020...

गमाडा से जमीन लेकर अलग से बनाए जाएं वेंडिंग जोन...बैठक के दौरान सभी वेंडर्स कमेटी के सदस्यों की बात सुनने के बाद निगम कमिश्नर ने व्यापरियों को बैठक में बुलाया। वहां पर सरबजीत सिंह पारस, रजत चावला, बलकर्ण सिंह, सुरजीत सिंह शाम फैशन मॉल अपने साथियों के साथ पहुंचे जिन्होंने सिरे से ही मार्केट के पीछे वेडिंग जोन बनाने को खारिज कर दिया और कहा कि ऐसा करना पुरी तरह से गैरवाजिब होगा। उन्होंने कहा कि यह व्यापरियों के हकों पर हमले के बराबर है। साथ ही गमाडा के ले-आउट प्लान का उलंघन है। इस समय मार्केट में किसी प्रकार की पार्किंग के लिए जगह सरप्लस नहीं है। पिक टाइम पर पार्किंग फुल होती है। अगर वेडिंग जोन बनाया जाता है तो जहां मौजूदा पार्किंग को उसके लिए समस्या आएगी वहीं वेडिंग जोन में सामान खरीदने आने वाले लोगों की गाडिय़ां भी आएंगी। उन्हें कहां खड़ा किया जाएगा। गमाडा से जमीन लेकर अलग से वेडिंग जोन बना कर दिया जाए। ताकि वेंडर्स का फायदा हो सके।

2018...

टूटे झूले भी आज तक वैसे ही पड़े...28 जुलाई 2018 को निगम के क्रेमेट एप पर फेज-2 के ज्ञान ज्योति स्कूल के पीछे के पार्क में टूटे हुए झुलों की शिकायत की गई थी। इस समस्या को रिजल्व करने के मैसेज के साथ बताया गया है। शिकायतकर्ता ने बताया वर्मा ने बताया कि उन्हें लगा कि काम हो गया होगा, लेकिन पार्क में वैसे ही झूले टूटे हुए थे, फुटपाथ टूटे हुए थे और रेन शेल्टर का हाल भी बेहाल था। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ जनता को बरगलाने के लिए बनाया गया है। इसमें समस्या का कोई भी समाधान नहीं होता है।

2020...


Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
X
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
Mohali News - complaint of broken swing on the app after 2 years the answer came but nothing worked
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना