पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jehanabad News Conditions Of Main Markets Uncomfortable In The Morning

सुबह में मुख्य बाजारों की स्थितियां असहज

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हालांकि गुरुवार को भी शहर की मुख्य सड़कों पर आम तौर पर लगातार सन्नाटा पसरा रहा लेकिन मुख्य बाजारों में सुबह में आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खुला रखने की अवधि में लोगों की भीड़ से स्थितियां असहज व खतरनाक दिख रहीं थीं। हालांकि जिला प्रशासन ने एक साथ पांच लोगों के जमा होने पर प्रतिबंध लगा रखा है फिर भी लोग बाजारों में खरीदारी को लेकर कुछ ज्यादा ही भीड़ भाड़ कर रहे हैं। दुकानों को खुली रखने की अवधि में लोगों के बीच अंतराल बनाए रखने के तमाम प्रयास धाराशाई होते दिख रहे हैं। गौरतलब हो कि बुधवार को जिलाधिकारी नवीन कुमार ने एक आदेश जारी कर दुकानदारों को एक-एक मीटर की दूरी पर ग्राहकों के लिए एक सर्किल चिन्हित करने का आदेश दिया था ताकि लोगों के बीच खतरनाक नजदीकियां नहीं बन सके। उन्होंने आदेश का उलंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी थी लेकिन अगले ही दिन आदेश के प्रति लोगों में गंभीरता का घोर अभाव दिखा। लोगों के बीच दूरी की महत्ता को देखते हुए नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार सुबह से ही शहर में विभिन्न इलाकों में दुकानों के आगे खुद एक-एक मीटर की सर्किल चिन्हित कराने में जुटे थे लेकिन फिर भी आम लोगों व दुकानदारों द्वारा प्रशासन के आदेश को ठेंगा दिखाया जा रहा था। इसी प्रकार लोगों की गलियों में गतिविधियां फिर से तेज होती दिख रहीं हैं। आम तौर पर प्रशासन के अधिकारी व पुलिस वाले मुख्य सड़कों पर ही नजर बनाए हुए हैं लिहाजा मुख्य सड़क पर निकलने में अब लोग डर रहे हैं। लेकिन दूसरी ओर शहर के अधिकांश मुहल्लों में तीन चार दिनों तक संयम बरत रहे लोग अब घरों के बाहर जमायत लगाने से परहेज नहीं कर रहे हैं। कई लोग ताश खेल रहे हैं तो बच्चों की जमायत एक साथ झुंड में बैठकर कई जगहों पर लुडो व कैरमबोर्ड खेलते दिख रही हैं। कई लोग जमायत बनाकर फालतू की गप्पें मारने के लिए समूह बनाने में परहेज नहीं कर रहे। ऐसी हालत शहर के कई मुहल्लों में भी बनी है। ऐसे में पीएम मोदी के द्वारा घरों के दरवाजे तक तय लक्ष्मण रेखा की धज्जियां उड़ाकर खुद व समाज के लिए खतरा पैदा कर रहे हैं।

नगर थानेदार ने गलियों में भी चलाया अभियान, भीड़ लगाने वालों को खदेड़ा

गलियों में गतिविधियों को तेज होने की सूचना पर नगर थानेदार राजेश कुमार ने गुरुवार की दोपहर बाद शहर के विभिन्न मुहल्लों में अंदर जाकर जमायत बनाने व भीड़ लगाने वालों को खदेड़ दिया। टाउन थानेदार ने कहा कि वे शहर के विभिन्न मुहल्लों में जाकर ऐसे लोगों को समूह में जमा नहीं होने के लिए आगाह कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने लोगों को आगाह किया कि अगर इसी तरह की हरकत करते रहे तो बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। दरअसल ऐसे हालात शहर के कई मुहल्लों में बन रहे हैं जहां लोग पुलिस की नजरों से बचकर अपने को स्वछंद पाते हुए जामायत बनाकर बिना मतलब का जमावड़ा लगा रहे हैं।

लॉकडाउन में नजर आई सख्ती

मंडियों से लेकर किराना दुकानों में दूरियां बनाने के महत्व को नहीं समझ रहे लोग

सुबह में प्रशासन ने लोगों की सहुलियत के लिए छह बजे से दस बजे तक जरूरी सामानों की दुकानों को खुला रखने का निर्देश दे रखा है। लेकिन लोग प्रशासन द्वारा दी जा रही सहूलियतों का बेजा इस्तेमाल कर रहे हैं। सब्जी मंडियों व किराना दुकानों से लेकर मुख्य बाजार की संकीर्ण सड़कों पर लोगों का हुजूम उमड़ रहा है। चाहे शहर का मुख्य सब्जी मंडी हो या फिर मेन रोड व शिवाजी पथ पर सजे किराना की दुकानें, हर जगह सुबह में ग्राहकों की खतरनाक ढंग से जामवड़ा, प्रशासन की पूरी तैयारी को पतीला लगाने की ओर ईशारा कर रहे हैं। अगर लोग स्थित की गंभीरता को नहीं समझे तो ऐसे हालात से कोरोना के खतनाक व भयावह बनने वाले जानलेवा चेन तोड़ने का पूर प्लान एक झटके में ध्वस्त हो सकता है। हालांकि प्रशासन लगातार पिछले चार दिनों से कोरोना को लेकर शहर से लेकर गांवों तक कोरोना के खतरों को लेकर जागरूकता अभियान चलाकर लोगों से सतर्कता की अपील कर रहा है लेकिन आम लोगों में से कुछ लोग इसे उस गंभीरता से नहीं ले रहे हैं, जिसकी अगले लगभग बीस दिनों तक बनाए रखने की सख्त जरूरत है।

यही तस्वीर रही तो...

पांच लोगाें को एक साथ रहने पर लगी है रोक

जीत लेंगे हम कोरोना से जंग

प्रशासन की सख्ती के चलते मुख्य सड़कों पर नहीं निकल रहे लोग पर मोहल्लों में नहीं दिख रहा असर

सुबह 10 बजे पटना-गया मुख्य पथ पर व्यस्त अरवल मोड़ के पास पसरा सन्नाटा।

गावों में भी सोशल डिस्टेंसिंग को दिखाया जा रहा ठेंगा

इसी प्रकार गांवों में भी लोगों विभिन्न नुक्कड़ों व दलानों पर लोगों के जमायत लगाने की खबरें मिल रही हैं। गावों में वैसे भी जागरूकता का अपेक्षाकृत अभाव है। उपर से गावों में शहरों की तरह पुलिस की सक्रियता भी नहीं है। लोगों की गतिविधियां देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कोरोना के संक्रमण की भयावहता के प्रति वे आज भी जागरूक नहीं हैं। समाज में एक कुछ नादान लोगों की सामूहिक गतिविधियों से पता चल रहा है कि वे कोरोना के वैश्विक बर्बादी के बारे में अब भी अनजान बने हैं या फिर जानबूझ कर खुद के साथ पूरे समाज को बर्बादी में झोंकना चाह रहे हैं। दरअसल इस पूरे मामले में आम लोगों को गंभीर होना पड़ेगा क्योंकि यह मामला कोई आम कानून व्यवस्था से नहीं जुड़ा है। यह हालात व्यापक मानव जाति के अस्तित्व व उस पर मंडरा रहे गंभीर खतरे से जुड़ा है।

आम तौर पर पैर न रखने की जगह मिलने वाले शकूराबाद मुख्य बाजार में पसरा सन्नाटा

कहीं लापरवाही, कहीं जागरुकता का अभाव

अरवल मोड़ के पास चौथे दिन भी दिनभर कायम रही वीरानगी।

स्टेशन इलाके में बिना मतलब बाइक सवार को दोनों ओर से सबक सिखाते पुलिस।

एक मीटर की दूरी वाले सुरक्षा घेरे का निर्माण कराते अधिकारी व मौजूद अन्य लोग।

अरवल मोड़ स्थित सब्जी मंडी के पास सोशल डिस्टेंसिंग के मंत्र की ऐसी की तैसी करते लोग

काको मोड़ के पास सामान के साथ अपनी ही धुन में गंतव्य की ओर बढ़ रहे लोग ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें