कोरोना ने बढ़ाई सामाजिक दूरी, पर समाज ने बिना रिश्ते देख जरूरतमंदों में बांटा भाेजन

News - फुटपाथ पर रह रहे बेघरों को जो मिला खा लिया राजेंद्र चौक डोरंडा से हाई कोर्ट जाने वाली सड़क पर फुटपाथ पर बोरा पर...

Mar 27, 2020, 07:45 AM IST
Ranchi News - corona increased social distance but society distributed the needy without seeing the relationship

फुटपाथ पर रह रहे बेघरों को जो मिला खा लिया

राजेंद्र चौक डोरंडा से हाई कोर्ट जाने वाली सड़क पर फुटपाथ पर बोरा पर बैठी एक उम्रदराज़ महिला मिली। नाम बताया तेजवा। रेलवे स्टेशन पर ही सोती हैं। खाने की तलाश में इधर आ गयी। मूलतः गया ग्वाल बिगहा की रहने वाली हैं। रांची में ऐसे सैकड़ों लोग हैं। नेक लोगों से मिले भोजन से ही जिंदगी चल रही है।

सिख समाज ने बाहर से अानेवालों को ठहराया, लंगर लगाया

रांची के सिख समाज ने जरूरतमंदों के लिए लंगर की सुविधा उपलब्ध कराने के साथ कमड़े स्थित गुरु गोबिंद पब्लिक स्कूल का विशाल सभागार प्रशासन को अस्थाई शेल्टर होम के लिए देने की घोषणा की है। श्री गुरु सिंह सभा रांची के महासचिव सरदार गगनदीप सिंह सेठी ने बताया गया कि गुरु गोबिंद सिंह पब्लिक स्कूल में लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है। उनके लिए लंगर की व्यवस्था भी गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा द्वारा की जाएगी।

कोई बांट रहा भोजन, तो किसी ने घर-घर राशन बांटा

रोज़ कमाने और खाने वाले समेत फुटपाथ पर ज़िन्दगी गुज़ारने वाले वंचितों के लिए कई हमदर्दमंद हाथ आगे बढ़े हैं। शहर की दर्जनों संस्थाएं ज़रूरत मंदों के लिए राशन की व्यवस्था कर रही हैं। अंजुमन इस्लामिया रांची ने पहले चरण में 5 लाख के फंड से 1000 ज़रूरतमंद परिवार को राशन पैकेट बांटेगी। यह निर्णय सदर इबरार अहमद की अध्यक्षता में हुई बैठक में हुआ।

जन जागृति मंच के सदस्यों ने 2000 मास्क बांटे

ओरिएंट क्राफ्ट फैशन इंडस्ट्रीज लिमिटेड, खेलगांव की ओर से गुरुवार को खटंगा, बकेंटोली, होटवार, टाटीसिलवे और बुटी बस्ती में मास्क बांटे गए। संस्थान के चितरंजन प्रमाणिक ने लगभग 2000 लोगों में मास्क बांटे और सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरूक किया। उन्होंने कहा कि किसी भी हाल में बाहर निकलने पर मास्क पहनकर ही निकलें।

एनएसयूआई सदस्यों ने खाने की सामग्री दी

एनएसयूआई सदस्यों ने हटिया क्षेत्र में जरूरतमदों के बीच खाने की सामग्री उपलब्ध कराई। सामग्री में ब्रेड, बिस्कुट, चूड़ा, गुड़, जूस, पानी की बोतल और साबुन भी दिया गया। इस अवसर पर इंदरजीत सिंह, आकाश रजवार, प्रणव राज, अमन यादव, आकाश कुमार, हिमांशु यादव, दीपक उपस्थित थे।

राज्य में गरीबों व जरूरतमंदों के बीच बांटेंगे भोजन के पैकेट

प्रशासन को विश्वास में लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राज्य के सभी जिलों में “कोई भूखा न सोए” अभियान चलाएगा। संघ के प्रांत प्रचारक रविशंकर ने यह योजना बनाई है। इसके लिए पूरे प्रदेश के स्वयंसेवकों की चेन बनाई गई है, जो इस काम में सहयोग करेंगे। इनका काम होगा कि ये सभी अपने घर के अगल-बगल के वैसे गरीबों और मजदूरों की पहचान करेंगे जो आर्थिक रूप से कमजोर और भूखे हैं। ऐसे सभी लोगों तक ये प्रशासन के सहयोग से भोजन का पैकेट भेजेंगे। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ सामंजस्य स्थापित करते हुए काम करने का निर्देश दिया गया है। इस मामले में अधिकारियों से फोन पर बात कर आगे की योजना बनाने को कहा गया है। प्रांत संघचालक सच्चिदानंद अग्रवाल ने गुरुवार को इस संबंध में स्वयंसेवकों को पत्र भेजा। उन्होंने पत्र में कहा है कि 21 दिवसीय लॉकडाउन की स्थिति में समाज का हर वर्ग सुरक्षित रहे, इस दिशा में काम करना है। रिक्शाचालक, भारवाहक, मजदूर, गरीब या इस विपरीत परिस्थिति में फंसे लोगों का सहयोग करना है। उन्हें भूखे नहीं रहने देना है।

सामाजिक संस्थाओं के भोजन पर निर्भर हैं खानाबदोश परिवार

लॉकडाउन में खानाबदोशों का जीना मुहाल हो गया है। लोगों की आवाजाही बंद हो जाने से अब इनके सामान का खरीदार नहीं है। इस वजह से इन्हें और इनके बच्चों को समय पर भोजन नहीं मिल पा रहा है। सामाजिक संगठनों या संस्थाओं की ओर से दिन या रात जब भोजन बांटा जा रहा है, तब इन्हें खाना मिल पा रहा है। ऐसे खानाबदोश परिवार रांची में ओवरब्रिज, बिग बाजार, करमटोली तालाब और जगन्नाथपुर में बड़ी संख्या में फंसे हुए हैं। इनकी आमदनी सड़क पर चलने वालों वाहनों और राहगीरों पर टिकी हुई है।

रांची क्लब : 19 दिनों तक राजधानी के गरीबों के बीच दिन का भोजन और पानी बांटेगा

रांची क्लब अगले 19 दिनों तक गरीबों के बीच दिन का भोजन और पानी पहुंचाएगा। क्लब के अध्यक्ष राजेश शाहदेव और उनकी टीम के आह्वान पर क्लब के कार्यकारिणी सदस्यों और सैकड़ों सदस्यों ने अपने कर्तव्य का निर्वाह करते हुए सहयोग दिया। राजेश शाहदेव ने बताया कि लॉकडाउन के संकट की इस घड़ी में रांची क्लब द्वारा 19 दिनों तक 400 लोगों के लिए हर दिन का भोजन जिला प्रशासन के सहयोग से गरीबों के बीच वितरित किया जाएगा।

अन्नपूर्णा सेवा : श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर के पास फ्री भोजन की व्यवस्था

आरएसएस की नेक पहल


कोई भूखा न सोए अभियान... राजधानी के विभिन्न सामाजिक संगठनों ने की पहल

स्टेट रिसोर्स सेंटर... टीम ने फुटपाथ पर रहने वालों में बांटा चूड़ा-गुड़

सांसद संजय सेठ की पहल पर माहेश्वरी समाज अन्नपूर्णा सेवा के तहत नि:शुल्क भोजन बांट रहे हैं। श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर के बाहर बने केंद्र से समाज द्वारा पिछले 7 वर्षों से जरूरतमंदों को छह रोटी-सब्जी और अचार दिया जाता है। इस केंद्र से दोपहर 12 से 2 बजे तक और शाम में 6 से 8 बजे तक भोजन उपलब्ध कराया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य गर्म और शुद्ध भोजन जरूरतमंदों को देना है। अब मजदूरों, रिक्शा चालकों, ठेलेवालों, कुलियों और मोटिया मजदूरों को नि:शुल्क भोजन दिया जाएगा।

रांची | कोरोना वायरस ने सामाजिक दूरी बढ़ा दी है, पर शहर के सामाजिक संगठन बिना रिश्ते देख शहर में भूखे-प्यासों के बीच भोजन बांटने निकले। प्रशासन को विश्वास में लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राज्य के सभी जिलों में “कोई भूखा न सोए” अभियान चलाएगा। रांची के सिख समाज ने जरूरतमंदों के लिए लंगर की व्यवस्था की है। कई सामाजिक संगठन तो गली-मुहल्ले में घूमकर जरूरतमंदों तक पहुंच रहे हैं।

लॉक डाउन होने की घोषणा के बाद बाजारों में खाद्य सामग्री और सब्जी आदि लेने वालों की भीड़ उमड़ रही है। लोग अपने राशन का सामान घर ले जाकर निश्चित हो जा रहे हैं। लेकिन, सड़क पर रहने वाले बेघर-लाचार भूखे न रहें, इसके लिए सरकारी संस्थाओं के साथ कई गैर सरकारी संस्थाएं भी आगे आ रही हैं। इसके तहत थड़पखना महावीर मंदिर के सदस्यों ने आपस में पैसे इकट्ठा कर गुरुवार को अल्बर्ट एक्का चौक के आसपास सड़क पर रहने वाले लोगों के बीच खिचड़ी का वितरण किया।

Ranchi News - corona increased social distance but society distributed the needy without seeing the relationship
X
Ranchi News - corona increased social distance but society distributed the needy without seeing the relationship
Ranchi News - corona increased social distance but society distributed the needy without seeing the relationship

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना