फुटओवर ब्रिजों से लाखों कमा रहा है निगम, लेकिन मेंटेनेंस के लिए एक पैसा भी नहीं कर रहा खर्च

Mohali Bhaskar News - करोड़ो रुपये की लागत से शहर में बनाए गए फुटओवर ब्रिजों को नगर निगम की ओर से पुरी तरह से नजर अंदाज किया जा रहा है और...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:32 AM IST
Mohali News - corporation is earning millions from footover bridges but is not spending a single penny for maintenance
करोड़ो रुपये की लागत से शहर में बनाए गए फुटओवर ब्रिजों को नगर निगम की ओर से पुरी तरह से नजर अंदाज किया जा रहा है और इसपर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसको लेकर शहर के कांग्रेसी पार्षद एवं समाजसेवी कुलजीत सिंह बेदी ने कहा कि सालों पहले गमाडा की ओर से करोड़ों रुपये खर्च करके बनाए गए इन फुटओवर ब्रिजों की देख-रेख करने की जिम्मेवारी नगर निगम की है। लेकिन नगर निगम की ओर से इन फुटओवर ब्रिजाे को मात्र अपनी आमदन के लिए एक जरिया बनाया गया है लेकिन इनकी मेनटेनेंस के लिए निगम की ओर से एक पैसा तक खर्च नहीं किया जा रहा है। जिसका परिणाम यह है कि यह फुटओवर ब्रिज इस समय पुरी तरह से नजर अंदाज हो चुके हैं और अब इन्हें जंग तक लगना शुरू हो गया है।

विज्ञापन के जरिए निगम इन ब्रिजों से कमा रहा है लाखों रुपए: बेदी ने कहा कि नगर निगम की ओर से इन फुटओवर ब्रिजों पर विज्ञापन लगा कर लाखों रुपये कमाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब निगम की ओर से इन ब्रिजों का इस्तेमाल अपनी आमदन बढ़ाने के लिए किया जा सकता है तो निगम की ओर से इन ब्रिजों को मेनटेन करने के लिए इसपर खर्च क्यो नहीं किया जा सकता। बेदी ने कहा कि इन फुटओवर ब्रिजों को सही से मेनटेन ना करके शहर के लोगों के साथ ना इंसाफी करने का काम किया जा रहा है।

रोड क्रॉस करने में दिक्कत ना आए इसलिए बनाए गए थे फुटओवर ब्रिज : शहर में बढ़ रहे ट्रैफिक को देखते हुए गमाडा की ओर से करीब 9 साल पहले फुटओवर ब्रिज बनाने का फैसला लिया गया था। फेज-7 चावला लाइट पॉइंट, फेज-3बी2 रोड गार्डन तथा फेज-3/5 की लाइट पॉइंट पर तीन फुटओवर ब्रिज बनाए गए थे। ताकि आने वाले समय में जब शहर में ट्रैफिक रश ज्यादा बड़े तो लोगों को रोड क्रॉस करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी ना आए और लोग आराम से इन फुटओवर ब्रिजों का इस्तेमाल करके रोड क्रॉस कर सकें। लेकिन नगर निगम की ओर से इन फुटओवर ब्रिजों की सही ढंग से मेनटेनेंस ना करने के चलते लोग इन ब्रिजों पर चढ़ना तक पसंद नहीं करते।


बेदी ने यह भी कहा कि यह ओवरब्रिज लोहे से बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि समय समय पर इनकी मेनटेनेंस ना होने के चलते इन ओवरब्रिजों पर अब जंग लगना शुरू हो गया है। बेदी ने कहा कि अगर नगर निगम इन ओवरब्रिजों को सही से मेनटेन करना शुरू नहीं करता तो आने वाले समय में यह ओवरब्रिज लोगों के खतरनाक साबित हो सकते हैं। क्योंकि आने वाले समय में इनकी हालत और ज्यादा खस्ता हो जाएगी जो की लोगों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

X
Mohali News - corporation is earning millions from footover bridges but is not spending a single penny for maintenance
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना