--Advertisement--

दूर्वा चढ़ाते समय बोलें एक मंत्र, महालक्ष्मी प्रसन्न होकर दूर कर सकती हैं घर की गरीबी

दाती महाराज से जानिए शास्त्रों में बताए गए दरिद्रता दूर करने वाले मंत्र

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 11:35 AM IST

रिलिजन डेस्क। खुद की मेहनत के साथ ही देवी-देवताओं की कृपा भी मिल जाए तो भाग्योदय बहुत जल्दी हो सकता है। भगवान को प्रसन्न करने के लिए सबसे सरल उपाय है मंत्रों का जाप करना। शास्त्रों में सभी देवी-देवताओं के लिए खास मंत्र बताए गए हैं।

यहां जानिए शनिधाम पीठाधीश्वर श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर परमहंस दातीजी महाराज के अनुसार महालक्ष्मी, गणेशजी और भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के मंत्र...

> पहला मंत्र

मां लक्ष्मी की पूजा में ये मंत्र बोलकर दूर्वा चढ़ाएं-

क्षीरसागरसम्भते दूर्वां स्वीकुरू सर्वदा।

ऊँ महालक्ष्म्यै नमः दूर्वां समर्पयामि।।

> दूसरा मंत्र

गणेशजी को प्रसन्न करने के लिए इस मंत्र का जाप 108 बार रोज करें-

ऊँ एकदन्ताय विहे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात्।

> तीसरा मंत्र

किसी भी कार्य के प्रारंभ में गणेशजी को इस मंत्र से प्रसन्न करना चाहिए:

श्री गणेश मंत्र ऊँ वक्रतुण्ड़ महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ।

निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा।।

> चौथा मंत्र

गणेशजी के इस मंत्र का जाप करने से हमारी बुद्धि बढ़ती है-

श्रीगणेश बीज मंत्र- ऊँ गं गणपतयै नमः।।

> पांचवां मंत्र

अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए भगवान विष्णु को इस मंत्र द्वारा प्रसन्न करना चाहिए।

श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

> छठा उपाय

घर की परेशानी को दूर करने और खुशी के लिए विष्णुजी के इस मंत्र का जाप कर सकते हैं-

ऊँ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

Related Stories