बिस्कुल सप्लाई करने आए टेंपो ने दुकान मालिक के 3 साल के बच्चे को कुचला, सीसीटीवी में कैद हुई मौत

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाड़ेवाल रोड स्थित प्रकाश कॉलोनी की है घटना, खेलते-खलते सड़क पर चला गया बच्चा
  • पुलिस पर आरोपी को गिरफ्तार करने में ढील बरतने का आरोप लगा लोगों ने दिया थाने के बाहर धरना

लुधियाना। लुधियाना में मंगलवार शाम को घर के बाहर खेल रहे 3 साल के बच्चे को बिस्कुट सप्लाई करने वाले एक टेंपो ने कुचल दिया। यह टेंपो बच्चे के पिता की दुकान पर बिस्कुट सप्लाई करने आया था। लौटते वक्त चालक उसे बेहद तेज स्पीड से भगा ले गया, जिसकी चपेट में आने से बच्चे की मौत हो गई। बाद में गुस्साए परिजनों और इलाकावासियों ने धरना दे रोष प्रदर्शन किया तो पुलिस ने आरोपी टेंपो चालक को गिरफ्तार किया। बुधवार को इस घटना का एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि बच्चा अगले पहिये के नीचे आता है, लेकिन टेंपो चालक ने रोका नहीं और इसी के चलते पिछला पहिया भी उसके ऊपर से गुजर जाता है।

 

पिता की आंखों के सामने गई बच्चे की जान: घटना बाड़ेवाल रोड स्थित प्रकाश कॉलोनी की है। मिली जानकारी के अनुसार 2 बहनों का इकलौता 3 वर्षीय भाई कार्तिक घर के बाहर खेल रहा था। अचानक एक टेंपो ने उसे कुचल दिया। टेंपो वाला टेंपो को भगा ले गया और मासूम सड़क पर तड़पने लगा। पता चलते ही आनन-फानन में परिजनों ने उसे दयानंद मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचाया, लेकिन इससे पहले ही पेट और छाती के ऊपर से वाहन गुजरने के कारण उसने दम तोड़ दिया। पुलिस को दिए बयान में पिता सुनीश कुमार ने बताया कि उसकी घर में ही किराना शॉप है। उसकी दुकान पर बिस्कुट कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर बिस्कुट देने आया था, जो उसकी आंखों के सामने ही बेटा खेलते-खेलते दुकान के रास्ते सड़क पर चला गया। सामान अनलोड करने के बाद जब जाने लगा तो एक दम से टेंपो की स्पीड बढ़ा दी, जिसके कारण उसका मासूम बेटा नीचे आ गया। बावजूद इसके आरोपी ने गाड़ी रोकने की बजाय भगा ली।

 

धरने के बाद किया गया आरोपी को गिरफ्तार: बच्चे की मौत से गुस्साए परिजन और आसपास के लोग थाना सराभा नगर के बाहर पुलिस के धरने पर बैठ गए। इसके बाद पुलिस ने आरोपी चालक को गिरफ्तार किया, जिसकी पहचान कृष्ण कुमार के रूप में हुई है। इन प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि फोन कर मालिक से फरार ड्राइवर के बारे में पूछना चाहा तो उसने बात करने से साफ इनकार कर दिया। पुलिस की तरफ से भी पहले केस दर्ज करने में समय लगाया गया और फिर आरोपी को जमानत पर छोड़ने की बात कही गई, जिस कारण उन्हें मजबूरन प्रदर्शन करना पड़ा, वहीं पुलिस ने आरोपों को झूठे बताया है। परिजनों की मांग है कि हत्या का मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

 

पुलिस ने आरोपों को नकारा: उधर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर बृज मोहन के अनुसार आरोपी को गिरफ्तार करने में कोई कोताही नहीं बरती गई। हादसे के बाद ड्राइवर दुगरी इलाके में गोदाम पर चला गया, जहां टेंपो छोड़कर फरार हो गया। इसके बाद उसे सूचना के आधार पर तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया।