Hindi News »Sports »IPL 2018 »IPL @ Rochak» Personal Life Of Deepak Chahar Who Took First Wicket In IPL History With The Help Of DRS

IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ

आज हमा आपको बता रहे हैं दीपक चहर की पर्सनल लाइफ से जुड़े कुछ शॉकिंग फैक्ट्स।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 08, 2018, 12:34 PM IST

  • IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    चेन्नई सुपरकिंग्स से पहले दीपक चहर IPL में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स से भी खेल चुके हैं। इसी टीम में एमएस धोनी भी रहे हैं।

    IPL इतिहास में डीआरएस का पहली बार इस्तेमाल मुंबई और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेले गए पहले मैच के तीसरे ही ओवर में हो गया। इस मैच में तीसरे ही ओवर की पहली बॉल पर चेन्नई सुपरकिंग्स के दीपक चहर को विकेट मिला। दीपक ने इविन लुईस के लिए LBW की अपील की जिसे अंपायर ने आउट करार दिया। हालांकि, बैट्समैन लुईस अंपायर के डिसिजन से संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने डीआरएस की मांगी। डीआरएस में लुईस साफ आउट नजर आए। आज हमा आपको बता रहे हैं दीपक चहर की पर्सनल लाइफ से जुड़े कुछ शॉकिंग फैक्ट्स।  आईपीएल में आने से पहले ही हुए थे रिजेक्ट...

     

    -राजस्थान के लिए डोमेस्टिक क्रिकेट खेलने वाले दीपक आगरा, यूपी के रहने वाले हैं। वे IPL में राजस्थान रॉयल्स और राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स से भी खेल चुके हैं।

    - राजस्थान के लिए डेब्यू से दो साल पहले दीपक चहर को 2008 में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन अकेडमी के तत्कालीन डायरेक्टर ग्रैग चैपल ने रिजेक्ट कर दिया था।

    - दीपक इस दिन को अपनी लाइफ का सबसे बुरा दिन मानते हैं। एक इंटरव्यू में दीपक ने बताया था कि 'उन्होंने मुझे फाइनल 50 में भी नहीं चुना था।'
    - जब दीपक ने इस बारे में चैपल से वजह पूछी थी तो चैपल ने कहा था कि 'मुझे नहीं लगता कि आप हायर लेवल तक क्रिकेट खेल सकते हैं।' साथ ही चैपल ने कहा था आप क्रिकेटर नहीं बन सकते।
    - उस दिन को याद करते हुए दीपक ने एक इंटरव्यू में बताया था, 'उस दिन मुझे बहुत बुरा लगा था। पूरे करियर में केवल वही वो दिन है जब मेरी हालत रोने जैसी हो गई थी। हालांकि मैंने अपने आंसू नहीं गिरने दिए।'
    - दीपक के मुताबिक इसके बाद उन्होंने नए सिरे से मेहनत करना शुरू कर दिया और दो साल बाद वे राजस्थान की ओर से रणजी ट्रॉफी में खेल रहे थे।

     

    धांसू था डेब्यू
    - दीपक ने नवंबर 2010 में राजस्थान की ओर से रणजी खेलते हुए फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था। मैच की पहली ही इनिंग में उन्होंने हैदराबाद के खिलाफ 10 रन देकर 8 विकेट लेते हुए धमाका कर दिया था।
    - दीपक की इस जबरदस्त परफॉर्मेंस की बदौलत पहली इनिंग में हैदराबाद की टीम केवल 21 रन पर ऑलआउट हो गई थी। जो कि घरेलू क्रिकेट की हिस्ट्री में किसी भी टीम का सबसे कम स्कोर है। इस मैच में उन्होंने कुल 12 विकेट लिए थे। वहीं उस रणजी सीजन में 30 विकेट लेकर वे दूसरे हाइएस्ट विकेट टेकर बने थे।
    आगे की स्लाइड्स में देखें, दीपक चहर के पर्सनल लाइफ फोटोज...

  • IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    दीपक चहर ने रणजी ट्रॉफी के पहले ही मैच में 12 विकेट लेकर जबरदस्त परफॉर्मेंस दी थी।
    तारक सिन्हा ने दिया दीपक को दूसरा मौका
    - चैपल के रिजेक्ट करने के बाद दीपक को दूसरा मौका उनके कोच रह चुके तारक सिन्हा ने दिया। सिन्हा PGDAV कॉलेज से रिटायर होने के बाद साल 2008 में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के साथ जुड़े। यहां क्रिकेट डायरेक्टर के पद पर रहते हुए नए टैलेंट की खोज में वे हनुमानगढ़ जिले पहुंचे थे। जिसके बाद वहां उन्होंने पहली बार दीपक चाहर को देखा।
    - पहली ही मुलाकात में दीपक ने अपनी बॉलिंग से तारक सिन्हा को इंप्रेस कर लिया। जिसके बाद उन्होंने दीपक से जयपुर आने के लिए कहा। जिसके बाद दीपक ने उन्हें बताया कि वो जयपुर गए थे, लेकिन चैपल ने उन्हें नकार दिया था।
    - हालांकि इसके बाद तारक के कहने पर दीपक जयपुर में आकर प्रैक्टिस करने लगे। जल्द ही उन्हें राजस्थान रणजी टीम की ओर से खेलने का मौका मिला। जिसके बाद उन्होंने राजस्थान के लिए बेहतर परफॉरम किया। इसके बाद उन्होंने आईपीएल में भी खेला।
  • IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    साउथ अफ्रीकी क्रिकेटर इमरान ताहिर के साथ दीपक चहर।
    कोच के मुताबिक भुवनेश्वर से कम नहीं हैं दीपक
    - तारक सिन्हा का कहना है कि दीपक को अपनी फिटनेस पर ध्यान देने की जरूरत है। तारक ने ही उनके टैलेंट को पहचान कर उन्हें आगे बढ़ने के लिए स्टेज दिया था।
    - तारक का कहना है कि राजस्थान के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाला इस क्रिकेटर में टीम इंडिया के बॉलर भुवनेश्वर कुमार की तरह बॉल फेंकने की कैपेसिटी है।
    - सिन्हा के मुताबिक 'ना केवल वो बॉल को बेहतर मूव करा सकता है। बल्कि साथ ही 130 से 135 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भी वो बॉल फेंक सकता है।' उन्हें दीपक से और बेहतर करने की उम्मीद है।
    - घरेलू क्रिकेट में शानदार शुरुआत के बाद भी चहर आगे अपने करियर में ज्यादा कमाल नहीं कर सके। दरअसल लगातार चोटिल होने की वजह से वे अपनी परफॉर्मेंस और टीम में कंसिस्टेंसी नहीं रख सके। हालांकि वे अब भी लगातार टीम इंडिया में एंट्री की कोशिशें कर रहे हैं।
    आगे की स्लाइड्स में देखें, दीपक की पर्सनल लाइफ के फोटोज...
  • IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    अपनी बहन और भाई के साथ दीपक चहर।
  • IPL इतिहास में DRS से इस प्लेयर को मिला पहला विकेट, जीता है ऐसी लाइफ, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Personal Life Of Deepak Chahar Who Took First Wicket In IPL History With The Help Of DRS
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From IPL @ Rochak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×