• Dharm
  • Gyan
  • सावधान! इन 14 पापों का साया मानव को बना देता है दानव
--Advertisement--

सावधान! इन 14 पापों का साया मानव को बना देता है दानव

जानिए कलियुग में कौन से 14 स्थान पाप के घर माने गए हैं। इनसे बचकर रहें।

Danik Bhaskar | Jun 14, 2012, 07:47 AM IST

शास्त्रों के मुताबिक सांसारिक जीवन में सुख, स्वार्थ के वशीभूत या अनजाने में भी हर व्यक्ति से मन, वचन या कर्म से कोई न कोई ऐसा पाप हो जाता है, जिसका फल दु:ख के रूप में भोगना पड़ता है। इन दोषों से छुटकारे या बचाव के लिए देव स्मरण का महत्व भी बताया गया है। शास्त्रों में अनजाने और अदृश्य रूप से हुए पापों के अलावा 14 ऐसे स्थान या यूं कहें ऐसे 14 कारण बताए गए हैं, जिनसे व्यक्ति स्वयं जानते-समझते भी जुड़कर पाप का भागी बनता है।
माना जाता है कि ये पाप किसी भी वक्त किसी भी व्यक्ति को अपने आगोश में ले सकते हैं। इनसे पाप की खाइयों में गिरकर मानव भी दानव बन सकता है। इसलिए सुख-चैन से भरे जीवन के लिए यहां बताए जा रहे 14 बातों से जरूर बचें -
हिन्दू धर्म ग्रंथों के मुताबिक जब कलियुग की मार की डर से गाय और लंगड़े बैल का रूप लेकर भाग रहे पृथ्वी और धर्म की रक्षा के लिए जब राजा परीक्षित ने कलियुग पर हमला किया, तब डरकर कलियुग ने आत्म समर्पण कर राजा से अभयदान मांगा। पुण्यात्मा परीक्षित ने पनाह में आए कलियुग को इन 14 स्थानों पर रहने की अनुमति दी। यह ऐसे स्थान हैं, जो व्यावहारिक और वैचारिक रूप से बुराई का घर माने जाते हैं। तस्वीरों के जरिए जानिए वे 14 स्थान, जहां पाप बसता है -