--Advertisement--

इसलिए सबसे अलग हैं धोनी, बिना मैच खेले जीत लिया लोगों का दिल, दूसरे टी20 में किट और ड्रिंक्स लेकर मैदान पर पहुंच गए माही

धोनी ने ऐसा पहली बार नहीं किया है, वे इससे पहले भी दो-तीन बार ऐसा कर चुके हैं।

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 04:40 PM IST

* भारत ने दूसरी टी20 में आयरलैंड को 143 रन से हराया
* मैच में चार बदलावों के साथ उतरी थी टीम इंडिया
* मैदान पर किट और ड्रिंक्स लेकर पहुंच गए धोनी

स्पोर्ट्स डेस्क. आयरलैंड के खिलाफ शुक्रवार को डबलिन में खेले गए दूसरे टी20 मैच में एमएस धोनी टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं थे। लेकिन मैदान के बाहर रहने के बावजूद उन्होंने ऐसा कुछ किया कि सबका दिल जीत लिया। दरअसल इस मैच में विराट ने कई रेगुलर प्लेयर्स को आराम देते हुए टीम की बेंच स्ट्रेंथ को आजमाया था। इसी वजह से धोनी को बाहर बैठाकर दिनेश कार्तिक को मौका दिया गया। हालांकि धोनी मैच में नहीं थे, लेकिन फिर भी कार्तिक से ज्यादा चर्चे उनके हो रहे हैं। निभाई 12वें प्लेयर की जिम्मेदारी...

- मैच में भारतीय टीम की इनिंग के दौरान जब सुरेश रैना और मनीष पांडे बैटिंग कर रहे थे। तब ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान धोनी उनके (रैना) लिए ड्रिंक्स और किट लेकर मैदान पर पहुंच गए।
- इतने सीनियर होने के बाद भी धोनी को टीम के 12वें प्लेयर की जिम्मेदारी निभाने में कोई दिक्कत नहीं हुई। जब वे मैदान पर किट बैग और ड्रिंक्स लेकर पहुंचे तो स्टेडियम में बैठी पब्लिक ने भी क्लेपिंग करते हुए उनको चीयर किया।
- हालांकि धोनी ने ऐसा पहली बार नहीं किया है, वे इससे पहले भी दो-तीन बार ऐसा कर चुके हैं। इस मैच में धोनी को नहीं खिलाने की वजह ये थी कि इंग्लैंड टूर से पहले विराट टीम के सभी प्लेयर्स को खेलने का मौका देना चाहते थे।

चार बदलावों के साथ उतरी थी टीम इंडिया

- आयरलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में टीम इंडिया चार बदलावों के साथ उतरी थी। शिखर धवन, एमएस धोनी, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की जगह पर लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक, उमेश यादव और सिद्धार्थ कौल को प्लेइंग इलेवन में लिया गया था।
- इस मैच में आयरलैंड ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग को चुना था। जिसके बाद टीम इंडिया ने 20 ओवरों में 213/4 रन बनाए थे। जवाब में आयरलैंड की टीम 70 रन पर ऑल आउट हो गई।
- टीम इंडिया ने ये मैच 143 रन से जीत लिया। जो टी20 फॉर्मेट में उसकी सबसे बड़ी जीत रही। वहीं ओवरऑल इस फॉर्मेट में रन के मामले में किसी भी टीम की ये संयुक्त रूप से दूसरी सबसे बड़ी जीत है। पाकिस्तान ने भी साल 2018 में कराची में विंडीज को 143 रन से हराया था। इस मामले में पहले नंबर पर श्रीलंका है, जिसने साल 2007 में केन्या को 172 रन से मात दी थी।
- मैच में 70 रन बनाने वाले लोकेश राहुल को 'प्लेयर ऑफ द मैच' चुना गया। वहीं सीरीज में 6 विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल 'मैन ऑफ द सीरीज' बने।