डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस, स्टोन का इलाज नहीं करवाने से भी किडनी हो रही फेल: डॉ. चरणजीत लाल

Panchkula Bhaskar News - आज के टाइम में डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस, स्टोन का इलाज नहीं करवाना और किडनी इंफेक्शन्स से...

Bhaskar News Network

Nov 10, 2019, 07:35 AM IST
Panchkula News - diabetes high blood pressure glomerulonephritis kidney failure due to non treatment of stone dr charanjeet lal
आज के टाइम में डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस, स्टोन का इलाज नहीं करवाना और किडनी इंफेक्शन्स से किडनी फेल हो रही हैं। किडनी के फेल होने के बाद एक मरीज को डायलिसिस पर रहना पड़ता है या किडनी ट्रांसप्लांट करवाना पड़ता है। किडनी ट्रांसप्लांट करवाने से कई फायदे होते है और मरीजों के लिए सबसे अच्छा ऑब्शन भी है। एक सफल ट्रांसप्लांट के बाद लाइफ काफी बेहतर हो जाता है और किडनी फेल्यूअर की समस्या भी ठीक हो जाती है। यह कहना है डॉ. चरणजीत लाल, सीनियर कंसल्टेंट, नेफ्रोलॉजिस्ट, अल्केमिस्ट अस्पताल का, जिन्होंने किडनी समस्याओं की जांच के लिए फ्री चैकअप कैंप का आयोजन किया। इसमें 75 से ज्यादा मरीजों ने हिस्सा लिया। कैंप के दौरान डॉ. नीरज गोयल, कंसल्टेंट यूरोलॉजिस्ट और किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन ने भी मरीजों का चैकअप किया। बाक्स सीनियर कंसल्टेंट नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ. चरणजीत लाल ने बताया कि लेटेस्ट इम्यूनोसप्रेसेंट दवाईयों और रिफाइंड सर्जिकल टेक्नीक के साथ किडनी ट्रांसप्लांट की सफलता दर में 95 प्रतिशत तक सुधार हुआ है। भारतीय कानून के अनुसार कोई भी स्वस्थ व्यक्ति स्वेच्छा से अपनी एक किडनी को किडनी फेल होने की समस्या से पीडि़त रिश्तेदारों को दान कर सकता है। डॉ. चरणजीत लाल ने बताया कि किडनी ट्रांसप्लांट क्रोनिक एंड स्टेज किडनी बिमारी से पीडि़त मरीजों के लिए सबसे अच्छा उपचार विकल्प है। फाइनल स्टेज का किडनी रोग एक ऐसी स्थिति है, जिसमें दोनों किडनियां स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

X
Panchkula News - diabetes high blood pressure glomerulonephritis kidney failure due to non treatment of stone dr charanjeet lal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना