क्रिमिनल प्रोसीजर कोड की व्यवस्था पर चर्चा

News - नामकुम | छोटानागपुर विधि महाविद्यालय नामकुम के स्नातकोत्तर विभाग के छात्रों द्वारा एक नेशनल सिमपोजियम का आयोजन...

Nov 10, 2019, 07:51 AM IST
नामकुम | छोटानागपुर विधि महाविद्यालय नामकुम के स्नातकोत्तर विभाग के छात्रों द्वारा एक नेशनल सिमपोजियम का आयोजन महाविद्यालय परिसर के बैरिस्टर एसके सहाय सभागार में किया गया। इसका शीर्षक ‘क्रिमीनल जस्टीस सिस्टम इश्यूज एंड चैलेंजेस’ था। मुख्य अतिथि झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायालय र|ाकर भेंगरा थे। अध्यक्षता रांची विवि के कुलपति प्रो डॉ. रमेश कुमार पांडेय ने की। की-नोट स्पीकर राजीव गांधी स्कूल आॅफ इंटेलेक्चूअल प्रोपर्टी लाॅ, आईआईटी, खड़गपुर के डॉ. उदय शंकर उपस्थित थे। र|ाकर भेंगरा ने आर्टीकल 20, 21 व 22, एक्स पोस्ट फेक्टो लाॅ व आरोपी को सुविधा व पसंद के अनुसार अधिवक्ता रखने का अधिकार पर चर्चा की। डाॅ. उदय शंकर ने भारतीय संविधान के अंतर्गत फेयर ट्रायल व क्रिमिनल प्रोसिजर कोड पर चर्चा की। नेशनल सिमपोजियम चार टेक्नीकल सेशन में विभाजित थे। प्रथम टेक्नीकल सेशन के मुख्य स्पीकर एडिशनल ज्यूडीसियल कमीशनर सह विशेष न्यायाधीश, सीबीआई के दिवाकर पांडेय व सेशन को प्रेजाइड ओवर प्रो डॉ. राकेश वर्मा द्वारा किया गया।

पुलिस के जांच-पड़ताल क्रिमिनल जस्टीस सिस्टम के अंतर्गत की भूमिका के बारे में संगोष्ठी हुई। द्वितीय टेक्नीकल सेशन के मुख्य स्पीकर झारखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता रुपेश सिंह थे। सेशन को प्रेजाइड ओवर डीन, फेकल्टी आॅफ लाॅ, नेशनल यूनिवर्सिटी आॅफ स्टडी एंड रिसर्च इन लाॅ, डॉ. संगीता लाहा द्वारा किया गया। इस सेशन में क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के अंतर्गत अधिवक्ता की भूमिका पर चर्चा की गई। तृतीय टेक्नीकल सेशन के मुख्य स्पीकर आईपीएस, इंसपेक्टर जेनरल आॅफ पुलिस (अवकाश प्राप्त) डॉ. अरुण उरांव थे। प्रेजाइड ओवर विद्युत लोकपाल, झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग प्रेम प्रकाश पांडेय द्वारा किया गया। क्रिमिनल प्रोसीजर कोड की व्यवस्था पर चर्चा की गई। चतुर्थ टेक्नीकल सेशन के मुख्य स्पीकर फोरेंसिक मेडिसीन एंड टोक्सीकोलोजी विभाग, रिम्स के डॉ. भुपेंदर सिंह व सेशन को प्रेजाइड ओवर नेशनल यूनिवर्सिटी आॅफ स्टडी एण्ड रिसर्च इन लाॅ के डॉ. के श्यामला द्वारा किया गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना