कपड़े की खरीद पर नहीं दिया मनमाफिक डिस्काउंट तो बदमाशों ने झोंका फायर, तीन कर्मी घायल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कैंट इलाके के जेएचवी मॉल की घटना
  • एडीजी जोन, आईजी समेत कई अफसर मौके पर

वाराणसी. कैंट स्थित जेएचवी मॉल में बुधवार शाम तीन युवकों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। घटना में गोपी कनौजिया व सुनील सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि चंदन शर्मा व विशाल सिंह गोली लगने से घायल हुए। पुलिस के मुताबिक, मॉल में करीब 10 राउंड फायरिंग हुई। मौके से देसी पिस्टल, खोखा व लावारिस बाइक बरामद की गई। मामले में काशी विद्यापीठ के चंदौली जिले के समुदपुर निवासी छात्र आलोक उपाध्याय और तीन अन्य अज्ञात पर केस दर्ज किया गया। पुलिस जल्द गिरफ्तारी का दावा कर रही है। 

 

\"v\"

 

एडीजी जोन वीपी रामाशास्त्री ने बताया, \"जेएचवी माल में स्थित यूवीकैन (युवराज सिंह का ब्रांड) शो रूम में डिस्काउंट व पुरानी रंजिश को लेकर कुछ विवाद हुआ था। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान की जा रही है। फायरिंग में सुनील और गोपी की मौत हुई, जबकि गोलू और विशाल घायल हो गए। हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच सहित 12 टीमें लगाई गई हैं। एसएसपी ने इंस्पेक्टर कैंट राजीव रंजन उपाध्याय और नदेसर चौकी प्रभारी प्रदीप यादव को लाइन हाजिर कर दिया है।\"

 

तो प्रेम प्रसंग है वारदात की वजह: पुलिस के मुताबिक, आलोक उपाध्याय की प्रेमिका से प्यूमा शोरूम के कर्मचारी प्रशांत अग्रहरि का विवाद हुआ था। इसके कारण उसकी प्रेमिका की नौकरी चली गई थी। बुधवार शाम शोरूम में घुसे तीन युवकों ने कर्मचारी प्रशांत अग्रहरि के बारे में पूछताछ की। इसी बीच एक ने पिस्टल निकाली तो शोरूम में मौजूद हर्षित तिवारी सहित अन्य ने शोर मचा दिया। यह देख अगल-बगल के शोरूम में काम करने वाले कर्मचारियों ने पिस्टल निकालने वाले को दबोच लिया और पिटाई शुरू कर दी। इस पर युवक के साथी ने पिस्टल निकाल कर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। 

\"मृतक

रोड पर शव रखकर किया प्रदर्शन: कल शाम जेएचवी मॉल में हुए गोलीकांड में मारे गए खजुरी वार्ड निवासी गोपी कनौजिया के परिजनों ने गुरुवार की सुबह पांडेयपुर-हुकुलगंज मार्ग पर शव रखकर प्रदर्शन किया। लोगों ने पीड़ित परिवार को सहायता व नौकरी की मांग रखी है। जिला प्रशासन व पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। लोगों को समझाया जा रहा है।